scriptMahesh Joshi said, the conscience of Governor Satya Pal Malik is still | महेश जोशी बोले, राज्यपाल सत्यपाल मलिक का जमीर अभी जिंदा | Patrika News

महेश जोशी बोले, राज्यपाल सत्यपाल मलिक का जमीर अभी जिंदा

जयपुर। सरकारी मुख्य सचेतक डॉ महेश जोशी ने राज्यपाल सत्यपाल मलिक के किसानों को लेकर दिए बयान का समर्थन किया है। जोशी ने कहा कि
राज्यपाल सत्यपाल मलिक का जमीर अभी जिंदा है। इसीलिए सत्यपाल मलिक इस तरह की बात कह पा रहे हैं।

जयपुर

Published: November 08, 2021 03:17:57 pm

जयपुर। सरकारी मुख्य सचेतक डॉ महेश जोशी ने राज्यपाल सत्यपाल मलिक के किसानों को लेकर दिए बयान का समर्थन किया है। जोशी ने कहा कि राज्यपाल सत्यपाल मलिक का जमीर अभी जिंदा है। इसीलिए सत्यपाल मलिक इस तरह की बात कह पा रहे हैं।
jaipur
mahesh joshi
जोशी ने आज पीसीसी में मीडिया से बातचीत में कहा कि जिन लोगों का जमीर जिंदा है, वे सब किसान आंदोलन के पक्ष में बयान दे रहे हैं,राज्यपाल सत्यपाल मलिक अपना पद दांव पर लगाकर यह बयान दे रहे है।केंद्र सरकार को अब भी इससे सबक लेना चाहिए। केंद्र को किसानों की बात सुननी चाहिए।
गौरतलब हैं कि मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कल एक कार्यक्रम में किसान आंदोलन का हल नहीं निकलने पर एक बार फिर केंद्र सरकार और बड़े नेताओं पर तंज कसा था। उन्होंने कहा कि आज तक इतना बड़ा आंदोलन नहीं हुआ। किसान आंदोलन में अब तक 600 लोग शहीद हो चुके हैं। एक जानवर मरता है तो दिल्ली के नेताओं का शोक संदेश आता है। हमारे 600 किसान शहीद हो गए, उन पर कोई नेता नहीं बोला।
मलिक ने यह भी कहा था कि अभी महाराष्ट्र के अस्पताल में 5-7 लोग आग से मरे। उनकी मौत पर दिल्ली से शोक संदेश गए हैं। किसानों की मौत पर हमारे वर्ग तक के लोग संसद में शोक प्रस्ताव के लिए नहीं बोले। इससे मैं आहत था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

SSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगानिलंबित एडीजी जीपी सिंह के मोबाइल, पेन ड्राइव और टैब को भेजा जाएगा लैब, खुल सकते हैं कई राजविराट कोहली ने किसके सिर फोड़ा हार का ठीकरा?, रहाणे-पुजारा का पत्ता कटना तयएसईसीएल ने प्रभावित गांवों को मूलभूत सुविधा देना किया बंद, कोल डस्ट मिले पानी से बर्बाद हो रहे हैं खेततीसरी लहर का खतरनाक ट्रेंड, डाक्टर्स ने बताए संक्रमण के ये खास लक्षण
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.