ताकि बच्चों की होली भी हो यादगार...

बच्चों को होली का इंतजार रहता है। इस मौज मस्‍ती में बड़े से लेकर छोटे बच्‍चे तक सभी शामिल रहते हैं। होली खेलने के दौरान कई बार बच्‍चे इस बात का ख्‍याल नहीं रख पाते कि कुछ छोटी गलतियां उनके लिए बड़ी परेशानी बन सकती है। इसीलिए पेरेंट्स को सतर्क रहना जरूरी है।

By: Tasneem Khan

Published: 07 Mar 2020, 03:48 PM IST

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

JAIPUR बच्चों को होली का इंतजार रहता है। इस मौज मस्‍ती में बड़े से लेकर छोटे बच्‍चे तक सभी शामिल रहते हैं। होली खेलने के दौरान कई बार बच्‍चे इस बात का ख्‍याल नहीं रख पाते कि कुछ छोटी गलतियां उनके लिए बड़ी परेशानी बन सकती है। इसीलिए पेरेंट्स को सतर्क रहना जरूरी है। बच्चों को बताएं कि इस रंगों के त्योहार को किस तरह से सुरक्षित बनाया जा सकता है। ताकि होली के रंग उनके लिए यादगार साबित हों। ताकि आपका बच्‍चा होली भी खेल ले और उसे इसके साइडइफेक्‍ट्स भी न झेलने पड़े। इसके लिए आपको कुछ खास बातों का ध्‍यान रखना बेहद जरूरी होता है।

- बच्‍चे को घर पर या आसपास ही रह कर होली खेलने दें। यदि बच्‍चा घर से बाहर जाने की जिद कर रहा हो तो आप भी उसके साथ ही रहें। किसी भी अंजान व्‍यक्ति के साथ बच्‍चे को होली न खेलने दें।

- बच्चे पानी में रंग मिलाकर ही होली खेलना पसंद करते हैं। उन्हें सूखे रंगों से होली खेलने के लिए प्रोत्साहित करें। इस बदलते मौसम में पानी के साथ होली खेलने से बच्चे बीमार हो सकते हैं। यही नहीं पानी में रंग घोलने से यह एलर्जी करते हैं।

- बच्चे होली खेलने जाएं, उससे पहले उनकी आंखों पर चश्‍मा और सिर पर कैप जरूर लगाएं। इससे बच्‍चे की आंखों और बालों में रंग नहीं जाएगा। इसके साथ ही बच्‍चे की स्किन पर होली खेलने से पहले ही क्रीम लगाएं। नारियल तेल सबसे अच्छा होता है। इससे एलर्जी से बचाव होता है।

- होली के रंग आप खुद खरीदें। बच्चों को ना लाने दें। आप हर्बल और आॅर्गेनिक रंग ही खरीदें। कैमिकलयुक्त रंगों को घर न लाएं। अपने रिश्तेदारों को भी बच्चों के लिए हर्बल रंग खरीदने की सलाह दें।

- बच्‍चे जब दोस्तों-रिश्तेदारों के साथ होली खेल रहें हों तो आपका उनके आस-पास रहना बहुत ज़रुरी है ताकि कोई परेशानी होने पर आप तुरंत उनकी मदद कर सकें।

- आपको बाजार में मिल रहे रंगों पर भरोसा नहीं तो आप घर पर भी रंग बना सकते हैं। अपने घर पर ही हल्‍दी, केसू या अन्‍य प्रकार के रंग बना सकते हैं।

- बच्चों को फुल स्लीव के कपड़े पहनाएं। कपड़े ऐसे हों, जिनसे हाथ और पैर पूरे ढक जाएं। इससे रंग सीधा उनकी स्किन पर नहीं लगेगा। पूरे शरीर पर नारियल का तेल लगाएं। नाखूनों से रंग आसानी से नहीं छूटते तो नाखूनों पर पारदर्शी नेल पेंट लगाएं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned