scriptMaking plans for early retirement | retirement plan: जल्द रिटायरमेंट का बना रहे हैं प्लान | Patrika News

retirement plan: जल्द रिटायरमेंट का बना रहे हैं प्लान

रिटायरमेंट के बाद खुद का ध्यान रखने की प्लानिंग जरूरी है। अगर रिटायरमेंट के बाद आपके बच्चे मदद करते हैं तो ये और अच्छी बात है, लेकिन रिटायरमेंट के बाद के लिए खुद की तैयारी होनी जरूरी है। रिटायरमेंट प्लान ध्यान देकर भविष्य की आर्थिक जरूरतों के लिए पहले से तैयार रह सकते हैं।

जयपुर

Published: June 25, 2022 09:21:46 am

रिटायरमेंट के बाद खुद का ध्यान रखने की प्लानिंग जरूरी है। अगर रिटायरमेंट के बाद आपके बच्चे मदद करते हैं तो ये और अच्छी बात है, लेकिन रिटायरमेंट के बाद के लिए खुद की तैयारी होनी जरूरी है। रिटायरमेंट प्लान ध्यान देकर भविष्य की आर्थिक जरूरतों के लिए पहले से तैयार रह सकते हैं। अगर आप जल्द रिटायरमेंट चाहते हैं तो आपको जल्दी रिटायरमेंट के लिए निवेश भी शुरू कर देना चाहिए। आप इक्विटी में आवश्यक निवेश कर सकते हैं, जिसमें उच्च रिटर्न मिल सकता है। इक्विटी लॉन्ग टर्म में वेल्थ बनाने के लिए बेस्ट एसेट क्लास है। रिटायरमेंट एक दीर्घकालिक वित्तीय लक्ष्य है, जिसके लिए आप अपने मासिक निवेश के एक बड़े हिस्से को इक्विटी में आवंटित कर सकते हैं। आप जितना अधिक इक्विटी के लिए आवंटित करते हैं, उतनी ही तेजी से आप अपने लक्ष्य को प्राप्त करेंगे। दरअसल, रिटायरमेंट के बाद सबसे बड़ी समस्या यह होती है कि पीएफ और ग्रेच्युटी का पैसा कहां निवेश किया जाए, जिससे नियमित आय मिले। सीनियर सिटीजन्स ऐसी स्कीम में पैसा लगाना चाहते है, जिससे बेहतर रिटर्न के साथ पैसा डूबने का खतरा ना हो।
retirement plan: जल्द रिटायरमेंट का बना रहे हैं प्लान
retirement plan: जल्द रिटायरमेंट का बना रहे हैं प्लान
रिटायरमेंट प्लानिंग में यह भी करें शामिल
रिटायरमेंट प्लानिंग के लिए वैसे तो बहुत से विकल्प हैं, लेकिन पहले सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान और बाद में सिस्टमैटिक विद्ड्रॉल प्लान आपके लिए बेहतर विकल्प हो सकता है। ये म्यूचुअल फंड में पहले मंथली बेसिस पर निवेश और बाद में एक तय रकम रेगुलर इंटरवल में निकासी का प्लान है। इसमें आपको म्यूचुअल फंड में मिलने वाले हाई रिटर्न का फायदा बड़ा कॉर्पस बनाने में मिलेगा, जिसके बाद आप रेगुलर इंटरवल पर बड़ी रकम निकाल सकेंगे। हम यहां आपको बता रहे हैं कि किस तरह से 20 साल तक हर महीने 15 हजार रुपए की मंथली एसआईपी करने पर अगले 20 साल तक आप हर महीने अपने लिए 1 लाख रुपए पेंशन का इंतजाम कर सकते हैं।
कम लागत और काफी रेगुलेटेड निवेश
इक्विटी-लिंक्ड सेविंग स्कीम और यूनिट-लिंक्ड इंश्योरेंस प्लान जैसी योजनाओं में फंड मैनेजमेंट शुल्क कहीं भी 1 फीसदी से 2 फीसदी तक होता है, जबकि इसकी तुलना में एनपीएस फीस एसेट अंडर मैनेजमेंट का 0.01 फीसदी है। इसके अलावा, नियामक एजेंसी पीएफआरडीए एनपीएस को सक्रिय रूप से नियंत्रित और मॉनिटर करती है। इसका मतलब यह है कि आपके अधिकारों और हितों की हर समय रक्षा की जाती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

मुंबई पुलिस की बड़ी कार्रवाई, गुजरात के भरूच में पकड़ी ‘नशे’ की फैक्ट्री, 1026 करोड़ के ड्रग्स के साथ 7 गिरफ्तारभूस्खलन से हिमाचल में 100 से अधिक सड़कें ठप, चार दिन भारी बारिश का अलर्टबिहारः मंत्रियों में विभागों का बंटवारा, गृह मंत्रालय नीतीश के पास, तेजस्वी के पास 4 विभाग, तेज प्रताप का घटा कद, देखें ListVideo मध्यप्रदेश में बाढ़ के हालात, सात जिलों में राहत-बचाव का काम शुरू, लोगों को घरों से निकालाममता बनर्जी के ट्विटर प्रोफाइल में गायब जवाहर लाल नेहरू की तस्वीर, बरसी कांग्रेसMaharashtra: खाने को लेकर कैटरिंग मैनेजर पर भड़के शिवसेना MLA संतोष बांगर, कर्मचारी को जड़ दिए थप्पड़कश्मीरी पंडित की हत्या मामले में सामने आई मनोज सिन्हा, महबूबा मुफ्ती व उमर अब्दुल्ला की प्रतिक्रिया, जानिए क्या कहाराजस्थान के अलवर जिले में मॉब लिंचिंग, बेरहमी से पिटाई के बाद शख्स की मौत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.