जयपुर में माणक चौक के बाद अब रामगंज थाने का हैड कांस्टेबल भी कोरोना पॉजिटिव, 33 पुलिसकर्मी क्वारेंटाइन

जयपुर में लगातार दो दिन में दो पुलिसकर्मी मिले कोरोना पॉजिटिव, हैड कांस्टेबल का बेटे भी पॉजिटिव, पत्नी को भी आइसोलेशन में रखा, रामगंज में पीसीआर पर सुबह 8 से रात 8 बजे तक ड्यूटी थी, माणक चौक थाने के 14 और रामगंज थाने के 19 पुलिसकर्मी क्वारेंटाइन में

By: pushpendra shekhawat

Published: 11 Apr 2020, 07:06 PM IST

मुकेश शर्मा / जयपुर। अब रामगंज थाने के एक हैड कांस्टेबल के कोरोना वायरस की पॉजिटिव रिपोर्ट आई है। इसके बाद पुलिस अधिकारी सकते हैं और कमिश्रर आनंद श्रीवास्तव, एडिशन कमिश्रर अजयपाल लांबा और डीसीपी राजीव पचार रामगंज थाने पहुंचे। उन्होंने हैड कांस्टेबल के संपर्क में आने वाले 19 पुलिसकर्मियों को चिह्नित किया और सभी को क्वारेंटाइन करवाया। वहीं हैड कांस्टेबल के बेटे की भी पॉजिटिव रिपोर्ट मिली। इसके बाद हैड कांस्टेबल की पत्नी को आइसोलेशन में रखवाया गया है।

हैड कांस्टेबल की रामगंज थाने की पीसीआर में सुबह 8 बजे से रात 8 बजे की ड्यूटी लगा रखी थी। वह परिवार सहित थाना परिसर स्थित क्वार्टर में ही रह रहा है। पुलिस कमिश्रर आनंद श्रीवास्तव ने संक्रमित क्षेत्र में तैनात सभी पुलिसकर्मियों को विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए। बताते हैं पुलिस अधिकारियों ने संदिग्ध घूमने वाले व्यक्तियों से सख्ती से पेश आकर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

अब तक 2 पुलिसकर्मी, 33 क्वारेंटाइन

दो दिन में माणक चौक व रामगंज थाने के एक-एक पुलिसकर्मी के कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। प्रदेश पुलिस में जयपुर कमिश्ररेट में पहले मामले हैं, जब पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। शुक्रवार को माणक चौक थाने के पुलिसकर्मी के कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट मिलने के बाद उसके संपर्क में आए 14 पुलिसकर्मियों को क्वारेंटाइन करवाया गया था। दो दिन में 33 पुलिसकर्मी क्वारेंटाइन करवाए जा चुके हैं।

क्वारेंटाइन पुलिसकर्मियों के पहले ले सेम्पल

डीसीपी राजीव पचार ने कहा कि पुलिस फोर्स की नफरी की कमी है। एक साथ इनती संख्या में पुलिसकर्मियों के क्वारेंटाइन होने से यह समस्या और बढ़ जाएगी। इसके लिए चिकित्सा विभाग से क्वारेंटाइन करवाए गए पुलिसकर्मियों के सेम्पल पहले दिलवाने की व्यवस्था करेंगे। इससे जिन पुलिसकर्मियों की रिपोर्ट नेगेटिव आए। आमजन की हिफाजत के लिए उनको ड्यूटी पर लगाया जा सके।

होटल व गेस्ट हाउस में ठहने की व्यवस्था

संक्रमित और संदिग्ध क्षेत्रों में ड्यूटी करने वाले पुलिसकर्मियों को बैरक में एक साथ ठहराने की बजाय अब होटल और गेस्ट हाउस के कैमरों में अलग-अलग ठहराने की व्यवस्था की गई है। कई पुलिस अधिकारियों ने इसके लिए क्षेत्रीय होटल संचालकों से बातचीत कर व्यवस्था चालू करवा दी है। इससे पुलिसकर्मी आपस में भी डिस्टेंस बनाकर रह सकें।

pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned