समारोह पूर्वक मनाया विश्वविद्यालय का स्थापना दिवस, सफलता की कहानी का भी किया जिक्र

समारोह पूर्वक मनाया विश्वविद्यालय का स्थापना दिवस, सफलता की कहानी का भी किया जिक्र

 

By: rohit sharma

Published: 06 Jun 2018, 11:46 PM IST

जयपुर।

शहर में स्थित मणिपाल विश्वविद्यालय का स्थापना दिवस के अवसर पर कैंपस में कई कार्यक्रमों का आयोजन हुआ। इस दौरान विश्वविद्यालय के चैअरपर्सन प्रो. के. रामनारायण ने विश्वविद्यालय की कल्पना, प्रेरणा और सभी फेकल्टी सदस्यों एवं कर्मचारियों की मेहनत एवं प्रेरणा की कहानी से संबोधन किया।

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि हमें इस सफलता से संतुष्ट होकर नहीं रूकना चाहिए एवं मेहनत करते हुए आगे बढ़ते रहना चाहिए। स्थापना दिवस अवसर पर विश्वविद्यालय परिसर स्थित एकेडेमिक ब्लॉक 2 में बने 2 नए ऑडिटोरियम एवं एम्पीथिएटर की नामकरण सेरेमनी का आयोजन भी किया गया।

साथ ही उन्होंने इस विश्वविद्यालय के 2011 से लेकर अब तक के विकास में सहयोग के लिए एडवाईजर, एमईएमजी, अभय जैन, विश्वविद्यालय के पूर्व प्रेसिडेंट, ब्रिगेडिअर सुरजीत एस. पाबला, पूर्व प्रेसिडेंट, प्रो. संदीप संचेती एवं सीनियर फेकल्टी सदस्यों के कार्यों की सराहना करते हुए टीचिंग एवं रिसर्च पर फोकस करने का आह्वान भी किया।


ये रहा विश्वविद्यालय का अब तक का सफर

विश्वविद्यालय की रजिस्ट्रार, प्रो. वंदना सुहाग ने विश्वविद्यालय की स्थापना से लेकर अब तक के विकास के बारे में विस्तार से प्रकाश डाला। प्रो. सुहाग ने बताया कि वर्तमान में विश्वविद्यालय में 45 पाठ्यक्रम चलाये जा रहे है। तीन करोड़ की स्कॉरशिप विद्यार्थियों को दी जा रही है। करीब 121.6 एकड़ में बने विश्वविद्यालय जयपुर में विभिन्न पाठ्यक्रमों के लिए 130 लेब, वाईफाई सुविधाओं सहित पांच हजार से अधिक विद्यार्थियों के लिए होस्टल में रहने की व्यवस्था है। इसके साथ ही विश्वविद्यालय को स्वच्छता रैंकिंग, भारत में मल्टी डिसीप्लेनरी युनिवर्सिटी में 74 वीं रेंक सहित कई नेशनल एवं इंटरनेशनल अवार्ड मिल चुके है।

विश्वविद्यालय ने स्थापना से अब तक राष्ट्रीय एवं अन्तराष्ट्रीय स्तर पर शैक्षणिक संस्थानों एवं उद्योग जगत् से मिलकर 83 एमओयू साईन किए है। 29 स्टार्ट अप डवलप करने के साथ ही इंजीनियरिंग एवं नॉन इंजीनियरिंग विद्यार्थियों का प्लेसमेंट 75 प्रतिशत एवं 85 प्रतिशत रहा है।

आगामी सत्र 2018-19 तक करीब 8500 विद्यार्थियों के साथ तेजी से ग्रोथ करने वाला यह देश का अग्रणी विश्वविद्यालय बन चुका है। कार्यक्रम का शुभारंभ विश्वविद्यालय के चैअरपर्सन, प्रो. के. रामनाराण, प्रेसिडेंट, प्रो.जी.के. प्रभु, रजिस्ट्रार, प्रो. वंदना सुहाग, प्रो-प्रेसिडेंट, प्रो. एन. एन. शर्मा, ग्रुप प्रेसिडेंट एकेडिमिया, एमईएमजी, राजन पादुकोण एवं ग्रुप प्रसिडेंट एचआर, एमईएमजी, निषित मोहंती ने दीप प्रज्ज्वलन कर किया।


ये रहे कार्यक्रम में उपस्थित

स्थापना दिवस अवसर पर मणिपाल ग्रुप सांग होसलो की उड़ान, सेलेब्रेटी डांस तथा शोर्ट फिल्म उम्मीदों का आकाश भी दिखाई गयी। कार्यक्रम में विश्वविद्यालय की डीन, फेकल्टी ऑफ आर्ट एंड लॉ, प्रो. मृदुल श्रीवास्तव, डीन, फेकल्टी ऑफ साइंस, प्रो. जी. सी. टिक्कीवाल, प्रो. एन. डी. माथुर, प्रो. राज शर्मा, प्रो. जी. एल. शर्मा, प्रो. अनिल मेहता, प्रो. ए. डी. व्यास, प्रो. एम. एल. वढ़ेरा, प्रो.अजय कुमार, प्रो. कुशल कुमार, एच आर. डिपार्टमेंट से एच. एस. भट्ट, वीरेंद्र यादव, देब आशीष, चीफ फायनेंस एंड अकाउंट्स ऑफिसर, सुजीबान घोष, फेकल्टी सदस्य, कर्मचारी एवं विद्यार्थी एवं शहर के गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

 

rohit sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned