मानसरोवर लूट नया खुलासा : रात 12:40 बजे ऑटो से आए थे लुटेरे, सीसीटीवी में कैद हुआ आॅटो

pushpendra shekhawat | Publish: Sep, 16 2018 09:48:18 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

मुकेश शर्मा / जयपुर. मानसरोवर में एसओजी के एएसपी की सास की हत्या कर जेवर लूट ले जाने वाले लुटेरे शुक्रवार देर रात 12:40 बजे ऑटो वहां पहुंचे थे। पुलिस ने पूर्व मंत्री हीरालाल इंदौरा के आवास के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे की शनिवार रात को रिकॉडिंग खंगाली गई, तब यह सामने आया।

 

लुटेरे मानसरोवर मेट्रो स्टेशन की तरफ से स्लीप लेन से सीएनजी ऑटो में वहां पहुंचे हैं। पूर्व मंत्री इंदौरा के दो मकान पहले ऑटो को रोका और फिर तीनों उसमें से कपड़े पहने हुए उतरते नजर आ रहे हैं। गली में से होते हुए इंदौरा के बगल वाले सूने मकान में पीछे से पहुंचते हैं। यहां कपड़े खोलते हैं और फिर सवा बजे इंदौरा के मकान में दाखिल होते हैं। ऑटो की लाइट में कैमरे में उसके नंबर नजर नहीं आ रहे थे। पुलिस क्षेत्र में लगे अन्य सीसीटीवी कैमरों से ऑटो के नंबर खंगाल रही है, साथ में ऑटो चालकों से भी पूछताछ कर रही है।

 

पारदी गैंग का ही हाथ

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, अभी इतना कहा जा सकता है कि वारदात को अंजाम देने वाली पारदी गैंग ही है। अभी गैंग का पता चला है, लेकिन वारदात करने वाले लुटेरे पकड़े नहीं जा सके हैं। उनकी तलाश में जगह-जगह सर्च भी चल रही है। लुटेरों की आखिरी लोकेशन न्यू सांगानेर रोड प्रधान वाटिका तक नजर आई है। इसके बाद वे अलग-अलग हो गए। पुलिस टीमें मध्यप्रदेश के साथ दिल्ली और उत्तर प्रदेश भी भेजी गई है।

 

शहर भर में चल रहा सर्च

पुलिस की मानें तो शहर की विभिन्न कच्ची व खानाबदोश बस्तियों में सर्च ऑपरेशन चलाया गया है। पुलिस के टारगेट पर शहर की बस्तियां है। इनमें सर्च जारी है। जयपुर कमिश्ररेट के सभी थानों को अपने-अपने क्षेत्र की कच्ची बस्तियों में निगरानी करने और वहां रहने वाले लोगों की पड़ताल करने के आदेश दिए हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned