चाइनीज के बजाए देसी आइटमों की मांग बढी, झांकियां सजाने को बड़ी संख्या में बिक रहे खिलौने

चाइनीज आइटम को लेकर विशेष सतर्कता है। खरीदने से पहले पूछते हैं कि चाइनीज है या देश में बना हुआ है। देशी बताने पर ही खरीद रहे हैं।

By: Vijay ram

Published: 18 Aug 2017, 12:39 PM IST

कान्हा के स्वागत को गुलाबी नगरी में बाजार सजे हैं। दुकानों पर लड्डू गोपाल के स्वरूपों के साथ ही आकर्षक वस्त्र आदि भी बिक रहे हैं। यही नहीं झांकियां सजाने के लिए भी बड़ी संख्या में सजावटी खिलौनों से दुकानें अटी पड़ी हैं। इस बार राहत की बात यह है कि पिछले वर्षों की तुलना में चाइनीज के स्थान पर देसी आइटमों की मांग अधिक है।

 

एक दिन बाद कान्हा के अवतरण का दिन जन्माष्टमी मनाया जाएगा। इसके लिए घरों और बाजारों में अभी से तैयारियां होने लगी हैं। दुकानों पर जहां विभिन्न आकार और कीमत के लड्डू गोपाल के स्वरूप बिक्री के लिए मौजूद हैं। वहीं झांकियां सजाने के लिए भी बड़ी संख्या में खिलौने बाजार में आ चुके हैं।


इनमें मिट्टी से लेकर प्लास्टिक और धातु तक के खिलौने शामिल हैं। दुकानदार रोशन कुमार का कहना है कि इस बार ग्राहकों में चाइनीज आइटम को लेकर विशेष सतर्कता है। खरीदने से पहले पूछते हैं कि चाइनीज है या देश में बना हुआ है। देशी बताने पर ही खरीद रहे हैं। इसके अलावा ही इस बार झांकी सजाने के लिए मिट्टी के खिलौनों की भी खासी मांग है। मिट्टी के खिलौने बनाने वाले रोहित ने बताया कि पिछले वर्ष की तुलना में इस बार अधिक आर्डर आया है।

 

लोगों में एक बार फिर मिट्टी के खिलौनों की मांग में खासा इजाफा हुआ है। वे इसकी वजह चाइनीज खिलौने बाजार में कम मात्रा में आना मान रहे हैं। फिलहाल कुछ भी हो लोगों ने घरों में कान्हा के स्वागत की तैयारियां शुरू कर दी हैं। इनमें मिट्टी से लेकर प्लास्टिक और धातु तक के खिलौने शामिल हैं। इस दुकानदार रोशन कुमार का कहना है कि इस बार ग्राहकों में चाइनीज आइटम को लेकर विशेष सतर्कता है। खरीदने से पहले पूछते हैं कि चाइनीज है या देश में बना हुआ है। 

Vijay ram
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned