जनसंगठनों ने उठाई मांग, करो लाइसेंस निलंबन

जनसंगठनों ने उठाई मांग, करो लाइसेंस निलंबन

By: Anil Chauchan

Published: 25 Apr 2018, 06:51 PM IST

जयपुर .
मालपाणी अस्पताल में अनैतिक रूप से ग्रामीणों पर ड्रग ट्रायल करने का मामला लगातार बढ़ता रहा है। अब तक जहां दिल्ली से आई टीम ने अपनी जांच में अस्पताल को दोषी माना वहीं ग्लेनमार्क ड्रग कंपनी अस्पताल को ड्रग ट्रायल के लिए पूर्व में ही सस्पेंड कर चुकी है। अब जन संगठनों ने विरोध प्रदर्शन कर अस्पताल के लिए नई मुसिबत खड़ी कर दी है। जनसंगठन प्रदर्शन कर मांग कर रहे हैं कि अस्पताल के लाइसेंस को भी निरस्त किया जाए।
राजस्थान के जनसंगठनों ने अस्पताल में अनैतिक ड्रग ट्रॉयल के विरोध में वीकेआई रोड नंबर एक स्थित अस्पताल परिसर के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। इन संगठनों ने पोस्टर व बैनर के जरिए अस्पताल का लाइसेंस रद्द करने और अस्पताल में अनैतिक ड्रग ट्रॉयल से प्रभावित हुए लोगों को मुआवजा दिलाने की मांग की।
इधर अस्पताल में ट्रॉयल की मॉनिटरिंग के लिए जिम्मेदार एथिक्स कमेटी में अनियमितता की भी नित नई जानकारियां सामने आ रही है। नियमानुसार ट्रॉयल करने वाले हर संस्थान को अपनी एथिक्स कमेटी की पूरी जानकारी अपने संस्थान की वेबसाइट पर देनी होती है, लेकिन इस अस्पताल ने अपनी एथिक्स कमेटी की जानकारी भी वेबसाइट पर प्रदर्शित नहीं की। हैरत की बात यह है कि पूरे प्रकरण के दौरान अस्पताल और कमेटी से जुड़े लोग खुद ही कमेटी के सभी सदस्यों तक के नाम नहीं बता पाए।
प्रदेश के सबसे बडे एसएमएस मेडिकल कॉलेज की बात करें तो यहां कॉलेज ने अपनी एथिक्स कमेटी को पारदर्शी तौर पर प्रदर्शित किया हुआ है। सूत्रों के अनुसार अस्पताल की एथिक्स कमेटी कुछ समय पहले ही रिवाइज हुई हैं लेकिन उसकी जानकारी अस्पताल की वेबसाइट तक पर उपलब्ध नहीं है। राजस्थान की जांच अभी थमी हुई पूरा मामला सामने आने के अगले दिन चिकित्सा मंत्री के निर्देश पर मालपाणी अस्पताल में जांच के लिए पहुंची चिकित्सा विभाग की टीम की जांच एक दिन की जांच के बाद ही थम सी गई है। पहले दिन टीम ने अस्पताल जाकर रिकॉड जांच कर उसे सीज कर दिया था। उस दिन टीम को प्रभावित लोगए चीफ इन्वेस्टिगेटर नहीं मिले थे। उनके बयान लिए जाने हैंए लेकिन बयान अभी तक नहीं लिए गए हैं। टीम के सदस्यों का अब कहना है कि रिकार्ड सीज हैए केन्द्रीय टीम के आ जाने के कारण जांच रोकी गई थी। प्रदेश की टीम की जांच अभी आगे जारी रहेगी।

Anil Chauchan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned