एमबीसी वर्ग के लिए 7 विभागों में 46 पदों का सृजन

पदों के सृजन को मुख्यमंत्री ने दी मंजूरी

जयपुर।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 7 विभागों की प्रक्रियाधीन भर्तियों में अति पिछडा वर्ग (एमबीसी) के लिए 46 अतिरिक्त पदों के सृजन की स्वीकृति दी है। गहलोत की इस स्वीकृति से अति पिछडा वर्ग को 5 प्रतिशत आरक्षण का लाभ मिल सकेगा।

By: Sunil Sisodia

Published: 27 Nov 2019, 07:52 PM IST

एमबीसी वर्ग को 5 प्रतिशत आरक्षण दिए जाने के लिए राज्य सरकार की ओर से अब तक 1060 अतिरिक्च पद सृजित किए जा चुके हैं। गहलोत ने खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, वाणिज्य कर, कार्मिक, आबकारी, आयुर्वेद तथा कृषि विभागों में 35 अतिरिक्त पदों की स्वीकृति दी है। इनमें कार्मिक विभाग में राजस्थान प्रशासनिक सेवा के 4, खाद्य एवं आपूर्ति विभाग में प्रवर्तन निरीक्षक का एक, वाणिज्य कर विभाग में कनिष्ठ वाणिज्य कर अधिकारी के 4 एवं कर सहायक के 6, आबकारी विभाग में आबकारी निरीक्षक ग्रेड द्वितीय के एक, आयुर्वेद विभाग में कनिष्ठ आयुर्वेद नर्स एवं कम्पाउण्डर के 16 तथा कृषि विभाग में कनिष्ठ सहायक के 3 अतिरिक्त पदों के सृजन की स्वीकृति सम्मिलित है।

मुख्यमंत्री ने इसके साथ ही सार्वजनिक निर्माण विभाग में भी कनिष्ठ सहायक के 11 नव सृजित पदों की स्वीकृति दी है। उल्लेेखनीय है कि पीडब्ल्यूडी में कनिष्ठ सहायक सीधी भर्ती परीक्षा-2018 की प्रक्रियाधीन भर्ती में 263 पदों के लिए जारी विज्ञापन में एमबीसी के लिए एक प्रतिशत आरक्षण के अनुसार पदों को दर्शाया गया है। राज्य सरकार की ओर से अति पिछडा वर्ग के लिए पूर्व में देय एक प्रतिशत आरक्षण में 4 प्रतिशत की वृद्धि किए जाने की पालना के फलस्वरूप कनिष्ठ सहायक के 11 अतिरिक्त पदों का सृजन किया गया है।

Sunil Sisodia Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned