मानव श्रंखला के जरिए पर्यावरण संरक्षण का संदेश

मानव श्रंखला के जरिए पर्यावरण संरक्षण का संदेश
१६ हजार २०० किलोमीटर होगी मानव श्रंखला

मानव श्रंखला के जरिए पर्यावरण संरक्षण का संदेश
१६ हजार २०० किलोमीटर होगी मानव श्रंखला
एक दूसरे का हाथ थामेंगे नागरिक
करेंगे जल जीवन हरियाली का समर्थन

राज्य में तीसरी बार बनने जा रही है मानव श्रंखला

मुख्यमंत्री करेंगे शुरुआत
बिहार में 16 हजार 200 किलोमीटर की मानव श्रंखला के जरिए पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया जाएगा। इस कार्यक्रम केा मूर्त रूप देने की तैयारी शुरू हो गई हैं। राज्य के नागरिक नए वर्ष में 19 जनवरी को एक दूसरे का हाथ थामकर जल जीवन हरियाली अभियान का समर्थन करते हुए पर्यावरण संरक्षण का संदेश देंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर राज्य में तीसरी बार मानव श्रंखला बनने जा रही है। 19 जनवरी को पूरे राज्य के लोग एक दूसरे का हाथ पकड़ कर खड़े होंगे। इस बार बनाई जाने वाली यह मानव श्रंखला कम से कम 16 हजार 200 किलोमीटर लंबी होगी।
इस आयोजन के लिए नोडल बने शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव आऱ के महाजन ने राज्य के सभी जिलाधिकारियों, पुलिस अधीक्षकों सहित अन्य अधिकारियों को दिशा निर्देश जारी किए हैं।
मुख्यमंत्री करेंगे शुरुआत
निर्देश के मुताबिक, इस मानव श्रंखला की शुरुआत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पटना के गांधी मैदान से करेंगे। सुबह 11.30 से दोपहर 12 बजे तक बनने वाली इस मानव श्रंखला में सरकारी कर्मचारियों, संविदाकर्मियों, सरकारी और गैरसरकारी विद्यालयों, महाविद्यालयों के शिक्षकों और कर्मियों, जीविका दीदी, आशा कार्यकर्ता, सेविका, सहायिका और छात्र छात्राएं शामिल होंगे। इसके लिए प्रचार प्रसार भी किया जाएगा।
१० दिसंबर तक रूट मांगा
निर्देश के मुताबिक, जिलों में जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक मानव श्रंखला बनने का रूट तय करेंगे। मुख्य सड़कों के साथ सहायक सड़कों पर भी मानव श्रंखला बनाई जाएगी, जिसमें वर्ग एक से पांच तक के बच्चे भाग नहीं लेंगे। सभी जिलों के जिलाधिकारियों से 10 दिसंबर तक मानव श्रंखला का रूट मांगा गया है। आपको बता दें कि इससे पहले शराबबंदी को लेकर बिहार में मानव श्रंखला का आयोजन किया जा चुका है।

Rakhi Hajela
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned