मैसी का कोर्ट जाने से इनकार, बार्सिलोना क्लब में ही रहेंगे

अर्जेंटीना के सुपरस्टार फुटबॉलर और दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्ट्राइकरों में से एक लियोनल मैसी ने कहा है कि वह इस सत्र में बार्सिलोना एफसी में ही रहेंगे और अपने चार साल के अनुबंध को देखेंगे जो उन्होंने 2017 में किया था।

By: satish

Updated: 05 Sep 2020, 10:49 PM IST

मैड्रिड। अर्जेंटीना के सुपरस्टार फुटबॉलर और दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्ट्राइकरों में से एक लियोनल मैसी ने कहा है कि वह इस सत्र में बार्सिलोना एफसी में ही रहेंगे और अपने चार साल के अनुबंध को देखेंगे जो उन्होंने 2017 में किया था। 33 वर्षीय फुटबॉलर ने एक साक्षात्कार में इस बात की पुष्टि की। कुछ दिनों पहले मैसी ने बार्सिलोना को बताया था कि वह क्लब को छोडऩा चाहते हैं जिसके बाद जैसे हंगामा हो गया था। मैसी पहली बार 20 साल पहले इस क्लब में शामिल हुए थे।
मैसी ने कहा, मैं इस साल क्लब में ज्यादा खुश नहीं था। मैं पूरे साल क्लब छोडऩे के बारे में सोच रहा था। मुझे लगा कि टीम को युवा खिलाड़यिों की जरुरत है और बार्सिलोना में मेरा काम खत्म हो गया है। यह काफी जटिल वर्ष था। मैंने ट्रेङ्क्षनग, खेल और ड्रेङ्क्षसग रुम में काफी संघर्ष किया। सभी चीजें काफी कठिन थी और ऐसा समय आया जब मैंने कुछ नया करने का सोचा। उन्होंने कहा, मैं जाना चाहता था और यह मेरा अधिकार है क्योंकि मेरा अनुबंध कहता है कि मैं जाने के लिए स्वतंत्र हूं। मैं जाना चाहता था क्योंकि मैं फुटबॉल में अपने अंतिम वर्षों में खुश रहने के बारे में सोच रहा था। स्ट्राइकर ने कहा कि उनका अनुंबध जून 2021 में खत्म हो रहा है और इसकी एक धारा के अनुसार 2019-20 सत्र की समाप्ति पर वह फ्री ट्रांसफर में जा सकते हैं और उन्होंने इस विकल्प को लेना चाहते थे।
बार्सिलोना का हालांकि इस बारे में मत अलग है। क्लब ने कहा कि अगर मैसी क्लब छोडऩा चाहते हैं तो वह अनुबंध की रिलीज धारा के तहत 70 करोड़ यूरो का भुगतान कर जा सकते हैं। धारा के तहत मैसी अगर मुफ्त में क्लब छोडऩा चाहते हैं तो उन्हें नियमित सत्र में 10 जून तक इसके लिए आवेदन देना था। लेकिन ला लीगा का मौजूदा सत्र कोरोना के कारण निर्धारित तारीख से आगे बढ़ गया था जिससे चीजें मुश्किल हो गयीं। बार्सिलोना मैसी को मुफ्त में नहीं छोडऩा चाहती है। इस बीच मैसी के पिता जॉर्ज ने गत बुधवार को बार्सिलोना जाकर बार्सीलोना एफसी के अध्यक्ष जोसप मारिया बार्तोम्यू से मुलाकात की लेकिन दोनों पक्षों के बीच कोई समझौता नहीं हो सका और यह मुलाकात विफल रही। इस मुलाकात के विफल रहने से मामला अदालत में जाने की संभावना बढ़ गयी थी लेकिन मैसी ने कहा कि वह ऐसा नहीं करना चाहते हैं। मैसी ने कहा, इस बात से मुझे काफी दुख हुआ कि लोग सोच रहे हैं कि मैं अपने फायदे के लिए बार्सिलोना के खिलाफ अदालत जाऊंगा। मैं ऐसा कभी नहीं करुंगा। हालांकि मैसी ने बार्सीलोना अध्यक्ष पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह अपनी बात पर अडिग नहीं रहे। उन्होंने हाल के वर्षों में क्लब की दिशा की भी आलोचना की।

satish Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned