मिड डे मील को लेकर भाजपा के इस नेता दिया गहलोत को उपयोगी सुझाव

कोरोना वायरस के लॉक डाउन की वजह से पूरा देश थम सा गया है। सरकारी दफ्तर, बाजार, गलिया सब सूने हो गए हैं। सरकारी स्कूलों पर भी ताले लगे हैं। ऐसे में भाजपा के कद्दावर नेता राजेंद्र राठौड़ ने मिड डे मील को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को महत्वपूर्ण सुझाव दिया है। अगर सरकार उनके सुझाव पर अमल करती है तो सैंकड़ों लोगों को इस संकट की घड़ी में निशुल्क भोजन उपलब्ध हो सकेगा।

By: Umesh Sharma

Published: 28 Mar 2020, 09:16 PM IST

जयपुर।

कोरोना वायरस के लॉक डाउन की वजह से पूरा देश थम सा गया है। सरकारी दफ्तर, बाजार, गलिया सब सूने हो गए हैं। सरकारी स्कूलों पर भी ताले लगे हैं। ऐसे में भाजपा के कद्दावर नेता राजेंद्र राठौड़ ने मिड डे मील को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को महत्वपूर्ण सुझाव दिया है। अगर सरकार उनके सुझाव पर अमल करती है तो सैंकड़ों लोगों को इस संकट की घड़ी में निशुल्क भोजन उपलब्ध हो सकेगा।

उप नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने पत्र में प्रदेश के प्राथमिक व उच्च माध्यमिक विद्यालयों में उपलब्ध मिड डे मिल की खाद्य सामग्रियों को कोरोना वायरस की वजह से खाने के लिए जूझ रहे गरीब लोगों को उपलब्ध कराने की मांग की है। राठौड़ ने कहा कि प्रदेश के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक 48 हजार 555 विद्यालयों में करीब 48 लाख 86 हजार 553 विद्यार्थियों पढ़ रहे हैं। इसी 62 हजार आंगनबाड़ी केन्द्रों में करीब 10 लाख बच्चों को मिड डे मिल वितरित किया जाता है।

मगर अभी सभी स्कूल बंद हैं और आने वाले कई हफ्तों तक इन स्कूलों के खुलने की संभावना कम है। ऐसे में इन स्कूलों में मिड डे मील के लिए रखा हुआ खाद्यान्न पड़ा हुआ है। इस सामग्री का गरीबों के भोजन में उपयोग किया जाए। इससे जरूरतमंद लोगों को भोजन मिल सकेगा।

Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned