खाड़ी देशों से आएंगे 1900 से अधिक​ प्रवासी श्रमिक, उदयपुर संभाग में क्वॉरंटीन की योजना

— 26 से 30 तक जयपुर पहुंचेंगी 11 उड़ानें, खर्च नहीं उठा पाने वालों के लिए सीएम ने दिए फ्री क्वॉरंटीन के निर्देश

By: Pankaj Chaturvedi

Published: 24 Jun 2020, 09:12 PM IST

जयपुर. वंदे भारत मिशन के तहत खाड़ी देशों में फंसे करीब 1900 से अधिक प्रवासी राजस्थानी श्रमिकों अब जयपुर लौटेंगे। 26 से 30 जून के बीच शहजाह और कुवैत से 11 उड़ानों का शेड्यूल राज्य सरकार को मिला है। सरकार ने इन प्रवासी श्रमिकों के मूल निवास को देखते हुए उदयपुर संभाग में क्वॉरंटीन सुविधा देने की योजना बनाई है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने क्वॉरंटीन का खर्च उठा पाने में अक्षम श्रमिकों को नि:शुल्क सुविधा देने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं।

विमानों से आ रहे विदेशी प्रवासियों के प्रबंधन के लिए बनी समिति ने बुधवार को इस बारे में तैयारियां पूरी कर लीं। समिति के चेयरमैन डॉ.सुबोध अग्रवाल ने बताया कि जयपुर आने पर इन प्रवासियों से क्वॉरंटीन की च्वॉइस पूछी जाएगी, जिसके आधार पर उन्हें जयपुर या उदयपुर में क्वॉरंटीन किया जाएगा।

केन्द्र की गाइडलाइन के अनुसार इन प्रवासियों को खुद के खर्च पर क्वॉरंटीन सुविधा लेनी होती है, लेकिन मुख्यमंत्री के निर्देश पर यह खर्च नहीं उठा पाने वाले श्रमिकों को सरकारी संस्थागत क्वॉरंटीन सुविधा दी जाएगी। उदयपुर संभाग में क्वॉरंटीन के सवाल पर उन्होंने बताया कि जयपुर में फिलहाल बगराना में सरकारी क्वॉरंटीन सेंटर हैं, लेकिन यहां पर्याप्त स्थान शेष नहीं होने के कारण यह योजना बनाई गई है। आने वाले श्रमिकों में अस्सी प्रतिशत डूंगरपुर, बांसवाड़ा, उदयपुर और प्रतापगढ़ के निवासी हैं। ऐसे में यदि वह चाहेंगे तो उन्हें सरकारी बसों से उदयपुर संभाग के क्वॉरंटीन सेंटरों पर भेजा जाएगा। उदयपुर संभागीय आयुक्त के निर्देशन में यह काम पूरा होगा।

Pankaj Chaturvedi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned