बचत हुई खत्म तो टूटा सब्र का बांध, 41 डिग्री तापमान में पैदल ही तय करने लगे सफर

यपुर की सड़कों पर इन दिनों फिर से मजदूर पलायन करते नजर आने लगे हैं। सिर पर सामान का बोझ उठाए यह मजदूर दिन में और रात में पैदल ही सड़कों से अपने घरों की ओर रवाना हो गए हैं। इनमें अधिकत्तर मजदूर बिहार और मध्यप्रदेश के है...

By: dinesh

Published: 10 May 2020, 12:01 PM IST

जयपुर। जयपुर की सड़कों पर इन दिनों फिर से मजदूर पलायन करते नजर आने लगे हैं। सिर पर सामान का बोझ उठाए यह मजदूर दिन में और रात में पैदल ही सड़कों से अपने घरों की ओर रवाना हो गए हैं। इनमें अधिकत्तर मजदूर बिहार और मध्यप्रदेश के है। पैदल पलायन करने वाली यह वह आबादी है जो रोज कमाकर खाने वाली हैं। लॉकडाउन के बाद से ही रोजगार बंद हो गए। हालांकि इन्होंने हिम्मत नहीं हारी और एक माह तक इंतजार किया। लेकिन अब मजदूरों ने जाे बचत कर रखी थी, वाे भी अब खत्म हाे चुकी है। ऐसे में अब इन मजदूरों की आर्थिक स्थिति डगमगा चुकी है। रसाेई में राशन के डिब्बे खाली हाे चुकेे हैं, उन्हें भरने के लिए जेब में पैसा नहीं है। यही कारण है कि अब इन मजदूरों का सब्र का बांध टूट गया है और यह पैदल पैदल ही बिहार उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों के लिए रवाना हो गए हैं।


41 डिग्री तापमान में पलायन
अब प्रवासी मजदूरों ने फिर से पलायन शुरू कर दिया है। राजधानी जयपुर से होते हुए हजारों श्रमिक रोज पलायन कर रहे हैं। ऐसे में राजस्थान में बढ़ता हुआ तापमान अब इन मजदूरों के पलायन में बाधा बन रहा है। इन दिनों की बात करें तो प्रदेश का तापमान 41 डिग्री के बीच चल रहा है। ऐसे में दोपहर की कड़ी धूप में मजदूर जयपुर से होते हुए दूर राज्यों के लिए पलायन कर रहे हैं। छोटे-छोटे बच्चों बुजुर्ग और महिलाओं के साथ सैकड़ों की तादाद में मजदूर जयपुर की सड़कों पर दिखाई दे रहे हैं। मजदूर परिवार ही पैदल सफर करते हुए दिखाई दे रहे हैं। अजमेर रोड, टोंक रोड और विश्वकर्मा औद्योगिक इलाके में यह मजदूर दिखई दे रहे हैं। मजदूरों को पता है कि यह तापमान उनके लिए खतरनाक है लेकिन फिर भी छोटे बच्चों के साथ जान की परवाह किए बगैर यह पैदल पैदल चल रहे हैं। लेकिन इनकी जिंदगी की सोचने वाला कोई नहीं हैं।

— हिमांशु शर्मा

dinesh Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned