scriptMining of pink, red stone after 26 years, will get employment | Bansi Paharpur Sandstone: 26 साल बाद गुलाबी, लाल पत्थर का खनन, मिलेगा राजस्व व रोजगार | Patrika News

Bansi Paharpur Sandstone: 26 साल बाद गुलाबी, लाल पत्थर का खनन, मिलेगा राजस्व व रोजगार

पर्यावरण मंजूरी जारी होने के साथ ही करीब 26 साल बाद बंशीपहाड़पुर ( Bansi Paharpur Sandstone) के सेण्ड स्टोन के वैध खनन की राह प्रशस्त हो गई है। इसी माह क्षेत्र में 3 खानों में गुलाबी और लाल पत्थर का वैध खनन कार्य आरंभ हो गया है। जुलाई के पहले पखवाड़े तक बंशीपहाड़पुर की शेष 34 मंशापत्रधारकों द्वारा भी खनन आरंभ कर दिया जाएगा।

जयपुर

Published: June 25, 2022 10:12:50 am

Bansi Paharpur Sandstone: पर्यावरण मंजूरी जारी होने के साथ ही करीब 26 साल बाद बंशीपहाड़पुर के सेण्ड स्टोन के वैध खनन की राह प्रशस्त हो गई है। इसी माह क्षेत्र में 3 खानों में गुलाबी और लाल पत्थर का वैध खनन कार्य आरंभ हो गया है। जुलाई के पहले पखवाड़े तक बंशीपहाड़पुर की शेष 34 मंशापत्रधारकों द्वारा भी खनन आरंभ कर दिया जाएगा। राजस्थान में खनिज क्षेत्र में यह एक बड़ी उपलब्धि है। इससे अब सरकार को राजस्व, नया निवेश और रोजगार के अवसर बढेंगे। अतिरिक्त मुख्य सचिव माइंस, पेट्रोलियम व पीएचईडी डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि बंशीपहाड़पुर में वैध खनन कार्य आरंभ कराना सरकार के लिए चुनौती भरा काम था। उच्चतक न्यायालय के आदेश से दिसंबर 1996 से बिना डायवर्जन के गैर वानिकी कार्य प्रतिबंधित किए जाने से उक्त क्षेत्र में वैध खनन बंद हो गया था। देश दुनिया में बंशीपहाड़पुर के पत्थर की मांग को देखते हुए क्षेत्र में अवैध खनन होने और आए दिन कानून व्यवस्था बाधित हो रही थी। प्रभावी तरीके से राज्य का पक्ष रखने का परिणाम रहा कि पहले केन्द्र सरकार से वन भूमि का डायवर्जन और उसके बाद प्लॉटों को तैयार कर ऑक्शन की प्रक्रिया सफलता पूर्वक पूरी की गई।
Bansi Paharpur Sandstone: 26 साल बाद गुलाबी, लाल पत्थर का खनन, मिलेगा राजस्व व रोजगार
Bansi Paharpur Sandstone: 26 साल बाद गुलाबी, लाल पत्थर का खनन, मिलेगा राजस्व व रोजगार
मुख्यमंत्री के प्रयासों से मिली सफलता
एसीएस माइंस डॉ. अग्रवाल ने बताया कि राममंदिर के लिए पत्थर से जुड़ा अतिसंवेदनशील मामला होने के कारण मुख्यमंत्री अशोक गहलोत इस प्रकरण में गंभीर थे और उनके अथक प्रयासों से ही पहले अतिसंवेदनशील बंशी पहाड़पुर खनन क्षेत्र ब्लॉक ए व बी सुखासिला एवं कोट क्षेत्र को बंध बारेठा वन्यजीव अभयारण्य क्षेत्र से बाहर करवाया गया और उसके बाद केन्द्र सरकार के वन, पर्यावरण व जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने वन भूमि के डायवर्जन की स्वीकृति जारी कराई गई। भारत सरकार की स्वीकृति के साथ ही राजस्थान के माइंस विभाग ने बंशी पहाड़पुर में खनन ब्लॉक तैयार कर इनके ऑक्शन की तैयारी आरंभ की गई और इसके लिए एसएमई जयपुर प्रताप मीणा को इस कार्य के समयवद्ध क्रियान्वयन के लिए प्रभारी अधिकारी बनाते हुए जिम्मदारी दी गई। माइंस एवं गोपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया ने इस कार्य को प्राथमिकता में रखते हुए बंशी पहाड़पुर क्षेत्र में खानों के प्लाट तैयार कर उनकी ई— नीलामी व वैद्य खनन के लिए किए जा रहे प्रयासों की निरंतर मोनेटरिंग करते रहे हैं। बंशी पहाड़पुर के पत्थर की राम मंदिर निर्माण में भी मांग को देखते हुए यह इस क्षेत्र में वैध माइंनिग शुरु करवाना राज्य सरकार के लिए संवेदनशील रहा है।
41 प्लॉट तैयार कर ई—पोर्टल के माध्यम से नीलामी
राज्य सरकार ने बंशीपहाड़पुर में 41 प्लॉट तैयार कर भारत सरकार के ई—पोर्टल के माध्यम से ई—नीलामी के बाद पहले कलस्टर क्लीयरेंस प्राप्त की गई। पिछले दिनों 41 मंशाधारकों में से 12 मंशंधारकों को एसईआईएए द्वारा पर्यावरणीय क्लीयरेंस जारी कर दी गई। अब 4 को छोड़कर सभी मंशधारकों को स्टेट एंवारयरमेंट इंपेक्ट एसेसमेंट कमेटी द्वारा एनवायरमेंट क्लीयरेंस जारी कर दी गई है। 4 मंशाधारकों ने अभी तक ईसी के लिए आवेदन नहीं किया है। 5 खनन पट्टाधारकों को जलवायु सहमति प्राप्त हो गई है और इनमें से 3 खानों में खनन कार्य आरंभ हो गया है। शेष खानों में भी जुलाई के दूसरे सप्ताह तक खनन आरंभ हो जाएगा। क्षेत्र में विश्वविख्यात गुलाबी लाल पत्थर का करीब 26 साल बाद वैध खनन आरंभ हो गया है। इससे हजारों लोगों को प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा, वहीं नए निवेश की राह प्रशस्त होगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहारः कांग्रेस ने बुलाई विधायकों की बैठक, नीतीश कुमार के साथ जाने पर बन सकती है सहमति!Maharashtra Cabinet Expansion: कल 15 मंत्री लेंगे शपथ, देवेंद्र फडणवीस को मिलेगा गृह विभाग? जानें शिंदे कैबिनेट के संभावित मंत्रियों के नाम'इनकी पुरानी आदत है पूरे सिस्टम पर हमला करने की', कपिल सिब्बल के बयान पर बोले कानून मंत्री किरेण रिजिजूअरविंद केजरीवाल ने कहा- देश की राजनीति में परिवारवाद और दोस्तवाद खत्म कर भारतवाद लाएंगेAmit Shah Visit To Odisha: अमित शाह बोले- ओडिशा में अच्छे दिन अनुभव कर रहे लोग, सीएम नवीन पटनायक की तारीफ भी की'नीतीश BJP का साथ छोड़े तो हम गले लगाने को तैयार', बिहार में मचे सियासी घमासान पर बोले RJD नेता शिवानंद तिवारीगालीबाज भाजपा नेता पर रखा गया 25 हजार का इनाम, 40 टीमें तलाश में जुटीTET घोटाले में हुआ बड़ा खुलासा, शिंदे गुट के विधायक अब्दुल सत्तार की बेटियों के नाम आए सामने, शिवसेना ने बोला हमला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.