मंत्री भूपेश ने विभाग की समीक्षा की, महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने पर हुई चर्चा

महिला बाल विकास राज्य मंत्री ममता भूपेश ( Minister of State for Child Development Mamata Bhupesh ) की अध्यक्षता में महिला अधिकारिता विभाग ( Women Empowerment Department ) की समीक्षा की।

By: Ashish

Published: 07 Jul 2020, 05:12 PM IST

जयपुर

Minister of State for Child Development Mamata Bhupesh : महिला बाल विकास राज्य मंत्री ममता भूपेश ( Minister of State for Child Development Mamata Bhupesh ) की अध्यक्षता में महिला अधिकारिता विभाग ( Women Empowerment Department ) की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने बजट घोषणा वर्ष 2019 -20, जन घोषणा 2020-21 की क्रियान्विति के साथ ही विभागीय योजनाओं के क्रियान्वयन एवं एनजीओ की ओर से चलाई जा रही परियोजनाओं की समीक्षा करते हुए जरूरी दिशा निर्देश दिए। बैठक में कोरोना वैश्विक महामारी के दौरान बढ़ती हुई घरेलू हिंसा और आर्थिक मंदी से उत्पन्न बेरोजगारी की समस्या को ध्यान में रखकर महिलाओं को आई एम शक्ति योजना के तहत आत्मनिर्भर और सशक्तिकरण का अवसर देने के लिए भी चर्चा की गई।
दरअसल, मुख्यमंत्री गहलोत ने "आई एम शक्ति" योजना लांच की है। इस योजना से महिलाओं को जोड़कर आनलाइन कंप्यूटर ट्रेनिंग के जरिए आत्मनिर्भर बना कर अपने परिवार को संबल देने के लिए जागरूक करने पर भी चर्चा की गई।
समीक्षा बैठक में बजट घोषणा वर्ष 2021 में नई राजस्थान राज्य महिला नीति, इंदिरा गांधी महिला शोध संस्थान स्थापित किए जाने पर भी चर्चा की गयी।

योजनाओं पर की गई चर्चा
बजट घोषणा वर्ष 2019-20 में महिला अधिकारिता विभाग द्वारा 300 पदों पर भर्तियों के संबंध में महिलाओं के बहुआयामी सशक्तिकरण के लिए 1000 करोड़ रुपए की प्रियदर्शनी इंदिरा गांधी महिला शक्ति निधि से महिलाओं को उद्यम स्थापना हेतु सहयोग, आधुनिक अनुसंधान हेतु कौशल विकास के लिए प्रशिक्षण, शिक्षा, पीड़ित महिलाओं के पुनर्वास संबंधी गतिविधियों पर भी विस्तार से चर्चा की गई। वित्तीय वर्ष 2020 -21में महिला स्वयं सहायता समूह संस्थान के बजट मद को वित् विभाग की स्वीकृति के अनुसार महिला विकास कार्यक्रम मैं समायोजित करने, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना, मुख्यमंत्री राजश्री योजना, इंदिरा महिला शक्ति योजना पर भी चर्चा की गई।


योजनाओं की समीक्षा की
वर्ष 2020 -21 में कोविड-19 की विशेष परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए आई.एम. शक्ति को विस्तार देते हुए उद्यम प्रोत्साहन योजना, आरएससीआईटी, आरएस -सीएफए ,शिक्षा सेतु योजना, कौशल सामर्थ्य योजना, जागरूकता शिक्षा कार्यक्रम पर भी चर्चा की गई। बैठक में मंत्री ममता भूपेश ने विभाग की योजनाओं का पूर्ण लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे, इस पर केंद्रित होकर काम करने का संदेश बैठक में उपस्थित सभी अधिकारियों को दिया। बैठक में विभाग के शासन सचिव डॉ के.के. पाठक, निदेशालय महिला अधिकारिता निदेशक रश्मि गुप्ता, अतिरिक्त निदेशक आभा जैन व अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned