मंत्री ने हरी झंडी दिखाई, चेयरमैन ने लगा दी खरीद प्रक्रिया पर रोक

-रोडवेज को एक और झटका...पहली बार बड़ी संख्या में आ रही बसों की खरीद रुकी

--चेयरमैन बोले- 876 में से 51 बस आ गई, अब शेष बसों की पहले बोर्ड से अनुमति देंगे

जयपुर। रोडवेज ने बेड़े में आ रही 876 बसों की खरीद प्रक्रिया पर भी रोडवेज चेयरमैन रविशंकर श्रीवास्तव ने सवाल उठा दिए हैं। इतना ही नहीं बोर्ड से अनुमति नहीं होने का हवाला देते हुए उन्होंने शेष बसों की खरीद पर रोक लगा दी। चेयरमैन का आरोप है कि पूर्व एमडी आलोक ने 876 बसों के लिए बोर्ड से प्रस्ताव पास नहीं कराया। ऐसे में अब 51 बसें रोडवेज के बेड़े में आ चुकी हैं। शेष 825 बसों के आने पर अनुमति का अडंगा लग गया है। खास बात है कि सात दिन पहले ही 51 बसों का शुभारम्भ समारोह आयोजित किया था। जहां परिवहन मंत्री के साथ रोडवेज चेयरमैन ने भी बसों को हरी झंडी दिखाई थी। गौरतलब है कि रोडवेज में इलेक्ट्रिक और एक्सप्रेस बसों की खरीद प्रक्रिया को लेकर विवाद गहरा गया है। चेयरमैन ने रोडवेज में आ रही इलेक्ट्रिक बसों के टेंडर पर भी रोक लगाई है।

...जबकि 1152 बसों का प्रस्ताव बोर्ड में ही पास
रोडवेज चेयरमैन ने एक्सप्रेस बसों का प्रस्ताव बोर्ड से पास नहीं होने की बात कही है, लेकिन अक्टूबर महीने में बोर्ड से 1152 बसों का प्रस्ताव पास किया गया था इसके बाद पूर्व एमडी आलोक ने 876 बसों की खरीद प्रक्रिया शुरू की थी।


आखिर विवाद क्यों
रोडवेज में इलेक्ट्रिक और एक्सप्रेस बसों की खरीद प्रक्रिया पूर्व एमडी आलोक ने पूरी की थी। इस समय बोर्ड चेयरमैन रविशंकर श्रीवास्तव थे। हालांकि टेंडर प्रक्रिया के दौरान चेयरमैन की ओर से किसी तरह की आपत्ति दर्ज नहीं की गई । एमडी के तबादले के बाद चेयरमैन ने टेंडर प्रक्रिया पर सवाल खड़े कर दिए। इसके पीछे का कारण एमडी और चेयरमैन के बीच खींचतान को माना जा रहा है।


बसों को आने से पहले बोर्ड की अनुमति नहीं ली गई है। ऐसे में 51 बसें आ गई, शेष बसों की पहले बोर्ड से अनुमति कराएंगे। इसके बस खरीद प्रक्रिया शुरू कराएंगे।
रवि शंकर श्रीवास्तव, चेयरमैन रोडवेज।


बसों को आने के लिए प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। चेयरमैन को बात करने के लिए बुलाया गया था। घोषणा पूरी होगी। बसें भी आएंगी।
प्रताप सिंह खाचरियावास, परिवहन मंत्री

Vijay Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned