मंत्री ने चेताया, 15 दिन में यहां योजना लेकर ही आना

बीआरटीएस कॉरिडोर हटाने का मामला, मंत्री ने जताई नाराजगी

By: manoj sharma

Published: 19 Mar 2020, 12:38 AM IST

जयपुर। रोड सेफ्टी काउंसिल की ओर से निर्णय करने के बाद भी बीआरटीएस कॉरिडोर हटाने में हो रही देरी पर परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने नाराजगी जताई है। बुधवार को सचिवालय में इस संबंध में बैठक आयोजित की गई, जिसमें उन्होंने पांच विभागों के अफसरों को 15 दिन में कोरिडोर हटाने की कार्ययोजना लेकर आने के निर्देश दिए हैं। बैठक में परिवहन मंत्री ने कहा कि यह परियोजना अपने लक्ष्यों में सफल नहीं रही है। इसके कारण कुल 19 किलोमीटर की योजना में केवल सीकर रोड के 6.5 किलोमीटर पर ही प्रतिमाह औसतन 2 लोगों की सड़़क दुर्घटनाओं में मौत हो रही है। इतनी खामियों के बावजूद शहर में बीआरटीएस प्रोजेक्ट के बारे में पिछले 10 वर्ष में कोई निर्णय नहीं लेने पर मंत्री ने नाराजगी जाहिर की। मंत्री ने कहा कि दुर्घटनाओं के बाद रोड सेफ्टी काउंसिल ने ही इस मुद्दे को उठाया है। उन्होंने कहा कि योजना जाम, रूकावट और जन हानि का कारण बन रही है। उन्होंने कहा कि सीकर रोड पर बीआरटीएस कॉरिडोर हटने से सड़क पर जाम और दुर्घटनाओं में कमी आएगी। बसों के सड़क किनारे रुकने से आमजन को सार्वजनिक परिवहन साधनों के उपयोग में आसानी रहेगी।
अधिकारियों ने ये रखे अपने विचार
परिवहन एवं गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव स्वरूप ने कहा कि बीआरटीएस कॉरिडोर की संकल्पना ठीक हो सकती है, लेकिन शहर के लिए यह परियोजना अब तक कागजी ही सिद्ध हुई है। प्रमुख शासन सचिव नगरीय विकास विभाग भास्कर ए सावंत और एमडी मेट्रो रेल परियोजना डॉ. समित शर्मा ने एक प्रस्तुतीकरण के माध्यम से बीआरटीएस कॉरिडोर की संकल्पना की जानकारी दी। अतिरिक्त पुलिस निदेशक (यातायात) स्मिता श्रीवास्तव ने शहर में सार्वजनिक परिवहन सेवा के उपयोग के लिए जनमानस को जागरूक करने की बात कही। बैठक में जेडीसी टी.रविकांत, स्वायत्त शासन सचिव भवानी सिंह देथा, परिवहन आयुक्त एवं सचिव रवि जैन, सचिव आवासन मण्डल संचिता विश्नोई, डीआईजी यातायात अंशुमान भोमिया, सीईओ स्मार्ट सिटी जयपुर लोकबन्धु, एडीशनल कमिश्नर ट्रैफिक राहुल प्रकाश समेत कई विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

manoj sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned