जयपुर शहर अध्यक्ष पद पर अल्पसंख्यक वर्ग का दावा, कांग्रेस में दबाव की राजनीति तेज

-कांग्रेस से जुड़े अल्पंसख्यक नेताओं का जल्द ही जयपुर में होगा सम्मेलन, सम्मेलन में अल्पसंख्यक वर्ग से चार नामों पर बनेगी सहमति, सम्मेलन पास किए गए प्रस्ताव और तीन नामों का पैनल आलाकमान को भेजा जाएगा

By: firoz shaifi

Published: 24 Jan 2021, 10:50 AM IST

फिरोज सैफी/जयपुर।
अल्पसंख्यक वर्ग से महापौर नहीं बनाए जाने के बाद से कांग्रेस से नाराज चल रहे अल्पसंख्यक नेताओं ने अब संगठन में अहम पदों के लिए लॉबिंग शुरू कर दी है। जयपुर शहर कांग्रेस अध्यक्ष अल्पसंख्यक से बनाए जाने को लेकर कांग्रेस से जुड़े अल्पसंख्यक नेताओं ने अब पार्टी पर दबाव बनाने की कोशिशें तेज कर दी है। जयपुर शहर कांग्रेस अध्यक्ष अल्पसंख्यक वर्ग से हो, इसके लिए तमाम अल्पसंख्यक नेता एक जाजम में जुटने को तैयार हैं।


सूत्रों की माने तो जयपुर शहर अध्यक्ष पद पर दावा जताते हुए कांग्रेस से जुड़े अल्पसंख्यक नेता जल्द ही जयपुर में एक बड़ा सम्मेलन आयोजित करने जा रहे हैं। हालांकि सम्मेलन की तारीख अभी तय नहीं है लेकिन बताया जा रहा है कि इसी माह के आखिर में जयपुर में सम्मेलन बुलाया जाएगा, जिसमें जयपुर की आठों विधानसभा क्षेत्रों के अल्पसंख्यक नेताओं को आमंत्रित किया जाएगा। सम्मेलन को लेकर कांग्रेस के अल्पसंख्यक नेताओं के बीच लगातार बैठकों का दौर जारी है।

सम्मेलन में सहमति से बनेगा चार नामों का पैनल
सम्मेलन की तैयारियों में जुटे अल्पसंख्यक नेताओं की माने तो सम्मेलन में कांग्रेस से जु़ड़े अल्पसंख्यक नेताओं जिनमें पीसीसी के पूर्व पदाधिकारी, बोर्ड, निगमों के पूर्व चेयरमैन, वर्तमान पार्षदों, पूर्व पार्षदों और अग्रिम संगठनों से जुड़े अल्पसंख्यक नेताओं को बुलाया जाएगा।

सम्मेलन में जयपुर शहर अध्यक्ष पद के लिए दावेदारी करने वाले नेताओं में सर्वसम्मति से चार नामों का चयन कर प्रस्ताव भी पास किया जाएगा, जिसमें अल्पसंख्यक वर्ग से ही जयपुर जिलाध्यक्ष बनाए जाने की मांग कांग्रेस आलाकमान से की जाएगी। चर्चा है कि सम्मेलन से पास हुए प्रस्ताव को प्रदेश प्रभारी अजय माकन, पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा, मुख्य सचेतक महेश जोशी और परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास को सौंपा जाएगा।

अल्पसंख्यक विधायकों रखा जाएगा सम्मेलन से दूर
चर्चा ये भी है कि जयपुर शहर के किशनपोल से विधायक अमीन कागजी और आदर्श नगर से विधायक रफीक खान को सम्मेलन से दूर ही रखा जाएगा। अल्पसंख्यक नेताओं की सबसे बड़ी नाराजगी इन दोनों विधायकों से है। अल्पसंख्यक नेताओं की माने तो महापौर चुनाव में अल्पसंख्यक वर्ग को प्रतिनिधित्व दिलाने को लेकर इन विधायकों ने कोई प्रयास नहीं किए थे।

नाराजगी के बाद डैमेज कंट्रोल में जुटी थी पार्टी
वहीं महापौर चुनाव में अल्पसंख्यक वर्ग को प्रतिनिधित्व नहीं देने से कांग्रेस नेताओं में बढ़ी नाराजगी को दूर करने के लिए पार्टी डैमेज कंट्रोल में जुट गई थी। तमाम तरह नाराज अल्पसंख्यक संगठनों और नेताओं को मनाने की कोशिशें की गई थी।

अल्पसंख्यक वर्ग से पहले भी रहे जयपुर जिलाध्यक्ष
अल्पसंख्यक वर्ग को लेकर बात की जाए तो जयपुर शहर कांग्रेस अध्यक्ष पद पर पहले भी अल्पसंख्यक वर्ग से तीन जिलाध्यक्ष रह चुके हैं, कांग्रेस नेता सईद गुडएज, शाह इकरामुद्दीन और सलीम कागजी लंबे समय तक जयपुर शहर कांग्रेस के अध्यक्ष रह चुके हैं।

firoz shaifi Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned