मोजम मेव गिरोह चुरा चुके 15 महीने में सौ से अधिक भैंस, तीन गिरफ्तार

पन्द्रह माह में सौ से अधिक भैंस चुराने वाली अंतराज्जीय मोजम मेव गिरोह के तीन बदमाशों को डीएसटी साउथ व मुहाना थाना पुलिस ने रविवार को गिरफ्तार किया

जयपुर के शहर के अलग-अलग थाना इलाके से पिछले पन्द्रह माह में सौ से अधिक भैंस चुराने वाली अंतराज्जीय मोजम मेव गिरोह के तीन बदमाशों को डीएसटी साउथ व मुहाना थाना पुलिस ने रविवार को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से चोरी की दो भैंस व वारदात में प्रयुक्त वाहन व औजार बरामद किए है। पुलिस गिरोह के पकड़े बदमाशों से पूछताछ कर अन्य बदमाशों की तलाश कर रही है।
डीसीपी (साउथ) योगेश दाधीच ने बताया कि मोजम मेव गिरोह के बदमाश हाफिज (32) निवासी बिछोर नुहु मेवात हरियाणा, समयद्दीन (35) निवासी गांव निमला कैथवाडा भरतपुर और आजाद उर्फ टौंटा (34) निवासी सीकर भरतपुर को गिरफ्तार किया है। बदमाश हाफिज गुलाब बिहार केसर चौराहा मुहाना में किराए से रहता है और पिछले आठ वर्षो से मुहाना मंडी में लोडिंग टैम्पो चला रहा था। वह बाइक से दिन में रैकी करता उसके बाद अपने साथियों को वारदात के लिए भरतपुर से बुलाता। हफिज अपने टैम्पो में भैंसों को भरकर भरतपुर ले जाता था। यह गैंग चुराकर लाई गई भैंसों को अपने गांव के आस-पास के लोगों को या काशी, गोवर्धन और मथुरा पशु हटवाड़ा में बेच देते थे। घटना के वक्त मोबाइल बदल-बदलकर काम में लेते है। वारदातों में शामिल गैंग के सरगना व अन्य सदस्यों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे है। गिरोह के कब्जे से लोडिंग टैम्पों, दीवार व तारबंदी काटने के औजार सहित प्लास्टिक की रस्सियां जब्त की गई है।
24 किलोमीटर की खंगाली सीसीटीवी
एसीपी श्रवण कुमार ने बताया कि रिंग रोड व आस-पास के इलाके से लगातार भैंस चोरी की घटनाएं सामने आ रही थी। हालही में मुहाना थाना इलाके में हाज्यावाला गांव से राजाराम चौधरी की दो भैंस चोरी हुई थी। जिसके बाद जिला स्पेशल टीम व थाना पुलिस ने 24 किलोमीटर के सीसीटीवी फुटेज खंगालकर बदमाशों की पहचान की। एक दर्जन से ज्यादा जगह की मोबाइल लोकेशन सर्च कर पुलिस के हाथ लगे कुछ नंबरों का चैंक करने पर बदमाशों के बारे में अहम जानकारी मिली। जैसे ही बदमाश वारदात करने के लिए एक्टिव हुए तो पुलिस भी एक्टिव हो गई और बदमाशों को शनिवार रात दो भैंस चोरी करते समय धर-दबोचा। गिरोह ने 15 माह से मुहाना, सांगानेर सदर, शिवदासपुरा, बगरू, प्रतापनगर, चाकसू सहित ग्रामीण इलाके के चंदवाजी और शाहपुरा इलाके से तीन दर्जन से ज्यादा वारदात कर 100 से ज्यादा भैंस चुराई है।
कई प्रकरण है दर्ज
एसएचओ हीरालाल सैनी ने बताया कि कैथवाड़ा, भरतपुर निवासी मोजम गैंग का सरगना है। उसके खिलाफ अलवर, भरतपुर, दौसा, जयपुर कमिश्नेट व जयपुर ग्रामीण सहित हरियाणा के थानों में 21 प्रकरण दर्ज है। अपहरण व डकैती के मामले में आरोपी को 2010 में कोर्ट ने सात साल की सजा सुनाई थी। इसी के गैंग के आजाद उर्फ टौंटा के खिलाफ चोरी, लूट, डकैती, हत्या का प्रयास, अवैध हथियार व पुलिस पर हमला करने के 11 मुकदमें दर्ज है। समयद्दीन के खिलाफ तीन और हाफिज के खिलाफ दो प्रकरण दर्ज है। भैंस चोर गिरोह को पकडऩे की सूचना मिलते ही आस—पास के गांव वालों ने जिला स्पेशल टीम व मुहाना थाना पुलिस को बधाई दी।

Dinesh Gautam Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned