भादौ में मेहरबान मानसून : झालावाड़ जिले में 14.6 इंच बारिश

हाड़ौती अंचल में तेज बारिश : चम्बल, आहू, उजाड़ व क्यासरी नदियां उफान पर, झालावाड़ के कालीसिंध बांध के 14 गेट खोले, कोटा बैराज के दो, भीमसागर का एक के गेट खोला, गागरीन बांध पर चादर चली, चम्बल में जल निकासी से कोटा से धौलपुर तक अलर्ट

By: Gaurav Mayank

Published: 19 Sep 2021, 12:43 AM IST

जयपुर। मध्यप्रदेश व पूर्वी राजस्थान में कम दबाव का क्षेत्र बनने से हाड़ौती अंचल में शुक्रवार रात से शनिवार तक मानसून मेहरबान रहा। झालावाड़ जिले में सर्वाधिक 14.6 इंच बारिश दर्ज की गई। मौसम विभाग के नियंत्रण कक्ष के मुताबिक झालावाड़ जिले में सुबह 5 बजे से रात 8 बजे तक 365 एमएम बारिश दर्ज की गई।

इससे आहू व उजाड़ नदियां उफान पर हैं। आहू नदी में उफान से डग का जिला मुख्यालय से सम्पर्क कट गया है। कालीसिंध नदी के कैचमेंट एरिया में सुबह से भारी बारिश का दौर जारी है। कालीसिंध बांध के 14 गेट कुल 55 मीटर खोलकर 2 लाख 19 हजार 500 क्यूसेक पानी की निकासी शुरू की गई। पिड़ावा क्षेत्र के गागरीन बांध पर 90 सेंटीमीटर की चादर चल रही है। रटलाई क्षेत्र में जोरदार बारिश होने के बाद भीमसागर बांध का एक गेट तीन फीट खोलकर उजाड़ नदी में पानी की निकासी की गई।

इधर आवर-पगारिया के निकट बहने वाली आहू नदी एवं क्यासरी नदी दिनभर उफान पर रही। मध्यप्रदेश में भी भारी बरसात होने से आहू नदी की रपट पर 20 फ ीट पानी आ गया। दिनभर पगारिया मार्ग बंद रहा। उधर झालावाड़ शहर के नया तालाब दुर्गपुरा तालाब पर भी चादर चल रही है। इसके बाद निचली बस्तियों में लोगों को सतर्क रहने को कहा है। छापी बांध के दो गेट खोलकर 41 हजार क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है।

राजगढ़-ब्यावरा मार्ग बंद
मध्यप्रदेश में हुई तेज बारिश से परवन नदी में उफान आने से मनोहरथाना से राजगढ़-ब्यावरा मार्ग अवरुद्ध हो गया। क्षेत्र की तीन ग्राम पंचायतों व दांगीपुरा पुलिस थाने का सम्पर्क उपखण्ड मुख्यालय से कट गया है। मनोहरथाना पंचायत समिति की खाताखेड़ी, पिंडोला व दांगीपुरा पंचायतों के दो दर्जन से अधिक गांवों का भी मनोहरथाना से सम्पर्क कट गया है।

ये मार्ग बंद
आहू नदी के उफान से हरनावदा पीता व धतुरिया मार्ग बंद। आवर कस्बा टापू बनने की स्थिति में, आहू व क्यासरी नदी में उफान आने से रास्ता बंद।

कोटा में डेढ़ इंच बारिश

कोटा में भी शुक्रवार देर रात व शनिवार दिनभर बीच-बीच में झमाझम बारिश होती रही। जिले के ग्रामीण इलाके सांगोद, रामगंजमंडी, खातौली, कनवास, मोईकलां में रिमझिम बारिश हुई। कोटा मौसम विभाग के अनुसार, सुबह 8.30 बजे से शाम 5.30 बजे तक 36.5 एमएम बारिश दर्ज की गई। इधर, चम्बल नदी में पानी की जोरदार आवक होने से कोटा बैराज के दो गेट खोलकर 12428 क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है। प्रशासन ने चम्बल में पानी की आवक के मद्देनजर कोटा से धौलपुर तक अलर्ट जारी कर दिया है।

बारां जिले मे फि र बरसी मेहर

बारां जिले में शनिवार दोपहर बाद शुरू हुआ बारिश का दौर शाम तक जारी रहा। हरनावदाशाहजी क्षेत्र में तेज बरसात से रामसेतु के ऊपर पानी का बहाव होने से आवागमन अवरुद्ध रहा। सुबह 8 से शाम 5 बजे तक जिले में सर्वाधिक 15 मिमी बारिश छीपाबड़ौद उपखंड मुख्यालय पर दर्ज की गई। जबकि बारां में 4, मांगरोल में 3, छबड़ा व अटरू में 9-9 व किशनगंज उपखंड मुख्यालय पर 2 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई।

रुक-रुक कर होती रही बारिश

बूंदी जिले में अल सुबह से ही रुक-रुक कर बारिश हो रही है। जजावर, नोताड़ा, डाबी, पेच की बावड़ी, रामगंजबालाजी सहित कई जगहों पर बारिश हुई। शाम पांच बजे तक बूंदी में 37, तालेड़ा में 9, के.पाटन में 27, नैनवां में 5, हिण्डोली में 25 एमएम बारिश दर्ज की गई।

Gaurav Mayank
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned