लॉकडाउन के बीच  जुमे की नमाज, पांच लोगों से ज्यादा नहीं आएंगे मस्जिद

जुमे के साथ ही सभी पांचों वक्त की नमाज आज से घरों में अदा होगी, कोरोनो के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए उलेमाओं ने जारी किया था फतवा, मस्जिद में केवल इमाम, मुअज्जिन ही अदा करेंगे नमाज , लाउड स्पीकर की आवाज के जरिए लोग घरों से पढ़ेगे नमाज

जयपुर। प्रदेश में कोरोनो के बढ़ते प्रकोप और 15 अप्रेल तक लॉक डाउन के चलते पांच से ज्यादा लोगों के एक साथ एकत्रित होने से अब लोग परहेज कर रहे हैं। मस्जिदों में भी इस पर अमल किया जा रहा है। लॉकडाउन के बीच आज जुमे की नमाज है।

जुमे की नमाज में लोगों की भीड़ बढ़ने की आशंका को देखते हुए देखते हुए धार्मिक उलेमाओं ने जुमे सहित पांचों वक्त की नमाज घरों में ही अदा करने को लेकर गुरुवार को फतवा और अपील जारी की थी। उलेमाओं ने लोगों से अपील की थी कि जुमे के साथ ही प्रतिदिन पढ़ी जाने वाली पांचों नमाजें लोग घरों में ही पढ़े, मस्जिदों में न आएं और प्रशासन का सहयोग करें। मस्जिदों में केवल इमाम, मुअज्जिनऔर तीन अन्य लोग ही नमाज अदा करेंगे।


दिख रहा असर
प्रदेश के मुफ्ती शेर मोहम्मद खान रजवी और जयपुर मुफ्ती जाकिर नोमानी की अपील के बाद राजधानी जयपुर सहित प्रदेश भर में इस अपील का असर भी देखा जा रहा है आज सुबह साढ़े पांच बजे पढ़ी जाने वाली फजर की नमाज में मस्जिदों में केवल पांच ही लोग नजर आए और लोगों ने घरों में ही नमाज अदा की। गुरूवार रात राजधानी जयपुर की तमाम मस्जिदों में इसे लेकर ऐलान भी किया गया कि लोग घरों पर रहकर नमाज अदा करें, मस्जिदों में पांच लोगों से ज्यादा आने की इजाजत नहीं है।


लाउड स्पीकर्स की आवाज बढ़ाई
वहीं लोग घरों पर रहकर नमाज अदा कर सकें, इसके लिए मस्जिदों में अजान के लिए लगे लाउड स्पीकरों की आवाज को बढ़ा दिया गया है, जिससे लोग जुमे की नमाज के दौरान इमाम की कीरत और खुतुबा सुन सकें और नमाज अदा कर सकें।

इनका कहना है

हां जुमे की नमाज और अन्य नमाजों को लेकर उलेमाओं ने फतवा और अपील जारी की है, मस्जिदों के इमामों से भी अपील की है कि वे अजान के दौरान ही लोगों से नमाज घरों में पढ़ने और मस्जिदों में नहीं आने को कहा जा रहा है।

जाकिर नोमानी, शहर मुफ्ती जयपुर

firoz shaifi Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned