राजस्थान मौसमः माउंट आबू में नलों में पानी जमा, 10 साल का रिकॉर्ड टूटा

प्रदेश में पिछले एक सप्ताह से शुष्क मौसम और शीतलहर के कारण जाड़े की जकडऩ बढ़ती जा रही है। शुक्रवार का दिन इस सीजन का सर्वाधिक ठंडा दिन रहा। सीजन में पहली बार शुक्रवार को न्यूनतम तापमान माइनस 4.6 डिग्री पर पहुंच गया।

By: kamlesh

Published: 29 Jan 2021, 07:57 PM IST

जयपुर। प्रदेश में पिछले एक सप्ताह से शुष्क मौसम और शीतलहर के कारण जाड़े की जकडऩ बढ़ती जा रही है। शुक्रवार का दिन इस सीजन का सर्वाधिक ठंडा दिन रहा। सीजन में पहली बार शुक्रवार को न्यूनतम तापमान माइनस 4.6 डिग्री पर पहुंच गया। वहीं फतेहपुर में भी पारा माइनस 1.6 डिग्री दर्ज किया गया। माउंट आबू, फतेहपुर के साथ-साथ प्रदेश के ज्यादातर जिलों में सर्दी के कहर को महसूस किया गया। पूरे प्रदेश में न्यूनतम तापमान दस डिग्री से नीचे रहा।

माउंट आबू व फतेहपुर में यह रही स्थिति
माउंट आबू में जनवरी महीने में न्यूनतम तापमापी का पारा जमाव बिंदु से (-4.6) डिग्री सेल्सियस नीचे पहुंचने से गत दस वर्षों का रेकार्ड टूट गया। वर्ष 2011 में तीन जनवरी को न्यूनतम तापमान (-5.4) डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। शुक्रवार को न्यूनतम तापमान में 1.6 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आने से तापमान (-4.6) डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अधिकतम तापमान भी दो डिग्री लुढ़ककर 18 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया।

ठंड के कारण खुले मैदानों, बाग-बगीचों में खिले फूलों, पेड़-पौधों के पत्तों, आवासीय भवनों की छतों पर लगी सोलर प्लेटों, जलाशयों के किनारे, पोलोग्राउंड, नक्की झील में खड़ी नौकाओं की सीटों, रात को खुले में पार्क किए वाहनों की छतों पर सवेरे बर्फ की परत जमी देखी गई। कई जगह सोलर प्लेटें भी टूट गईं।

नलों में पानी जम गया। वहीं फतेहपुर कृषि अनुसंधान केंद्र में शुक्रवार को तापमान जमाव बिंदु से नीचे गोता लगाकर माइनस 1.6 डिग्री पर पहुंच गया। इधर मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे तक मौसम शुष्क रहने और शीतलहर की चेतावनी दी है।

Weather forecast

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned