scriptMovie Review Laal Singh Chaddha | 'चमत्कार' के भरोसे 'लाल सिंह चड्ढा' | Patrika News

'चमत्कार' के भरोसे 'लाल सिंह चड्ढा'

फिल्म समीक्षा: लाल सिंह चड्ढा
डायरेक्शन: अद्वैत चंदन
इंडियन एडेप्टेशन: अतुल कुलकर्णी
स्टार कास्ट: आमिर खान, करीना कपूर, मोना सिंह, चैतन्य अक्किनेनी, मानव विज
रन टाइम: 165 मिनट

जयपुर

Published: August 11, 2022 09:42:45 pm

आर्यन शर्मा @ जयपुर. फिल्म 'लाल सिंह चड्ढा' टॉम हैंक्स की 'फॉरेस्ट गम्प' (1994) का भारतीय रूपांतरण है। इसमें 'गम्प' की चॉकलेट को गोलगप्पों से बदलने के अलावा भी काफी फेरबदल हैं। एक 'मासूम' शख्स की असाधारण यात्रा 'लाल...' अपने मार्मिक पंच से इमोशनल बीट्स को चतुराई से मापती है। इस यात्रा में इमरजेंसी, भारत का पहली बार क्रिकेट विश्व कप विजेता बनना, इंदिरा गांधी की हत्या, लालकृष्ण आडवाणी की रथ यात्रा, बाबरी विध्वंस, मुंबई बम ब्लास्ट, सुष्मिता सेन का मिस यूनिवर्स बनना, करगिल युद्ध, 26/11 आतंकी हमला, अन्ना आंदोलन जैसी ऐतिहासिक घटनाओं का जिक्र आता है। फिल्म में कई खूबसूरत और प्यारे मोमेंट हैं तो कई दृश्य दर्शकों के धैर्य की परीक्षा भी लेते हैं। दरअसल, सेकंड हाफ में ज्यादा लंबाई और धीमी गति फिल्म के खिलाफ जाती है। इससे फिल्म थोड़ी खिंची हुई लगती है और उत्सुकता में कमी आने से फिल्म का ग्राफ नीचे आने लगता है।
'लाल' की इमोशनल जर्नी, 'चमत्कार' के भरोसे 'लाल सिंह चड्ढा'
'लाल' की इमोशनल जर्नी, 'चमत्कार' के भरोसे 'लाल सिंह चड्ढा'
पठानकोट में रहने वाला लाल सिंह चड्ढा पैरों में प्रॉब्लम के कारण ठीक से चल नहीं पाता। उसकी समझ बाकी लोगों से थोड़ी अलग है। यानी उसे बात जरा देर से समझ आती है। लोग उसे कमअक्ल यानी 'बुद्धू' समझते हैं। लाल की मां उसे यह हौसला और विश्वास देती है कि वह किसी से भी कम नहीं है। बड़ी मशक्कत के बाद मां उसका दाखिला नॉर्मल स्कूल में करवा पाने में सफल रहती है। स्कूल में वह रूपा से मिलता है। रूपा से दोस्ती उसकी जिंदगी की 'रीढ़' बन जाती है। एक घटना के बाद लाल सरपट भागने लगता है। यहीं से लाल के जीवन में नया मोड़ आता है...।
कहानी के एडेप्टेशन में भारतीय संवेदनाओं का ध्यान रखा गया है। हालांकि कुछ पॉइंट हजम कर पाना थोड़ा मुश्किल है। दरअसल, लाल की मां, रूपा और उसके दोस्त बाला वाले ट्रैक बेहतरीन हैं जबकि दुश्मन से दोस्त बने पाकिस्तान के मोहम्मद का ट्रैक दिलचस्प तो है, पर कुछ सवाल खड़े करता है। अद्वैत चंदन का निर्देशन साफ-सुथरा है। एक ट्रैक को दूसरे से सहजता से जोड़ा है। फिल्म की शुरुआत शानदार है। पहले फ्रेम से ही 'लाल' ऑडियंस से कनेक्शन बना लेता है। उसकी मासूमियत, बॉडी लैंग्वेज, सोच और बोलने का अंदाज, सब लुभाता है। फिल्म के संवाद अच्छे बन पड़े हैं। लोकेशंस आकर्षक हैं। सिनेमैटोग्राफी एक्सीलेंट है। संगीत एक कमजोर कड़ी है। एडिटिंग सही नहीं है। आमिर खान ने 'लाल' की मासूमियत को परदे पर अच्छे से पेश किया है। हालांकि उनके इस किरदार को निभाने के अंदाज में 'पीके' की छाप दिखाई देती है। करीना कपूर की अदाकारी फिल्म को मजबूती देती है। मोना सिंह की नेचरल एक्टिंग तारीफ के काबिल है। चैतन्य अक्किनेनी की स्क्रीन प्रजेंस मजेदार है। मानव विज छाप छोड़ने में काफी हद तक सफल रहे हैं। शाहरुख खान का क्यूट कैमियो याद रखने योग्य है। कामिनी कौशल को गेस्ट अपीयरेंस में देखना सुखद है। अहमद बिन उमर और हफ्सा अशरफ क्यूट हैं। कुछ कमियों के बावजूद यह फिल्म देखी जा सकती है। यह बात जरूर है कि बॉक्स-ऑफिस की रेस में मेडल जीतने के लिए 'लाल सिंह चड्ढा' में 'भाग लाल भाग' जैसा 'प्रोत्साहन' कम नजर आता है।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

टेक्नोलॉजी के नए युग का आगाज PM मोदी ने लॉन्च की 5G सर्विस, अब 10 गुना होगी इंटरनेट स्पीडगुजरात : AC और सिलेंडर ब्लास्ट से 4 लोगों की दर्दनाक मौत, 5 घायलसंयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में रूस के खिलाफ अमरीका लाया प्रस्ताव, भारत सहित 4 देशों ने नहीं किया मतदानयूक्रेनी क्षेत्रों को रूस में 'विलय' किए जाने की Speech में Putin ने क्यों लिया भारत और चीन का नाम?LPG cylinder price: कमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमतों में कमी, घरेलू LPG के दाम में राहत नहींबैक टू बैक 8 ट्वीट कर हर्षा भोगले ने लगा दी इंग्लैंड की क्लास, दीप्ति शर्मा के 'मांकडिंग' को लेकर पढ़ाया कल्चर का पाठत्योहारों के बीच कमरतोड़ महंगाई, 22 फीसदी तक महंगे हुए रोजाना के सामान, जानिए कब मिलेगी राहत...कांग्रेस अध्यक्ष पद के नामांकन की प्रक्रिया हुई पूरी, मल्लिकार्जुन खड़गे, शशि थरूर और केएन त्रिपाठी मैदान में
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.