कुम्भलगढ़ और टाडगढ़ अभ्यारण की सीमा निर्धारण अधिसूचना से आमजन को राहत : सांसद दीयाकुमारी

होटल व टूरिज़्म 1 किमी व खदान 5 किमी के दायरे से बाहर संचालित करने के आदेश

By: SAVITA VYAS

Published: 24 Jun 2020, 09:51 PM IST


जयपुर। कुम्भलगढ़ और टाडगढ़ अभ्यारण की सीमा निर्धारण की संशोधित अधिसूचना जारी हो जाने से मार्बल और होटल व्यवसायियों के साथ टूरिस्ट और रोजगार के क्षेत्र को बड़ी राहत मिलेगी।

भारत सरकार ने कुंभलगढ़ एवं टाड़गढ़ वन्य अभ्यारण्य की सीमा निर्धारण के संबंध में राजकीय अधिसूचना जारी कर दी है। मार्बल खदान व होटल व्यवसाय से जुड़े सभी व्यापारियों को इसका सीधा लाभ मिल सकेगा। होटल व अन्य टूरिज़्म से लेकर संबंधित गतिविधियां 1 किलोमीटर एवं खदान 5 किलोमीटर के दायरे के बाहर संचालित की जा सकेंगी। इसको लेकर सांसद दीयाकुमारी ने वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर का आभार व्यक्त किया है।
गौरतलब है कि पूर्व की अधिसूचना में खदान संबंधी गतिविधियों को 10 किलोमीटर के दायरे से बाहर सुचारू करने की घोषणा थी। इस अधिसूचना के कारण अधिकांश मार्बल खदान 10 किलोमीटर के दायरे में प्रतिबंधित हो रही थी। इसका सीधा खामियाजा व्यापारियों को भुगतना पड़ रहा था।

इसको लेकर पिछले दिनों ही व्यवसायियों ने सांसद दीयाकुमारी को समस्या से अवगत कराया था। व्यवसायियों का कहना था कि व्यवसायिक गतिविधियों को 10 किलोमीटर से बाहर करने के नियम से पूरा व्यवसाय चौपट हो जाएगा। सांसद ने तुरंत ही वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को समस्या से अवगत कराया व्यवसायियों को राहत दिलाई है। इस संबंध में प्रभावित वर्ग अगले 60 दिवस में अपनी आपत्ति ऑनलाइन दर्ज करा सकता है। केंद्र सरकार की ओर से जारी अधिसूचना को लेकर कुम्भलगढ़ और भीम विधानसभा के होटल, टूरिज्म और मार्बल व्यवसायियों में खुशी की लहर है।

SAVITA VYAS Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned