बिजली ने दिया करंट तो सांसद किरोड़ीलाल मीणा ने सैकड़ों कर्मचारियों के साथ किया कूच

बिजली उपभोक्ताओं से रुके लूट और इंटर डिस्कॉम स्थानांतरण नीति लागू करने के लिए कवायद

By: Bhavnesh Gupta

Published: 12 Jul 2021, 11:09 PM IST

जयपुर। बिजली बिल के जरिए उपभोक्ताओं पर आर्थिक भार बढ़ाने का विरोध और इंटर डिस्कॉम स्थानांतरण नीति बनाने सहित अन्य मांग को लेकर सांसद किरोड़ीलाल मीणा ने सोमवार को बड़ी संख्या में विद्युत कर्मचारियों के साथ प्रदर्शन किया। मीणा अपने जवाहर सर्किल स्थित निवास स्थान से कर्मचारियों के साथ रवाना हुए, लेकिन पुलिस ने उन्हें बीच ही रोक लिया और स्टेट हैंगर के पास खाली जमीन की तरफ भेज दिया। इस बीच सरकार की तरफ से वार्ता के लिए बुलावा आया। इसके बाद मीणा 11 सदस्यीय प्रतिनिधि मण्डल के साथ उर्जा सचिव दिनेश कुमार के साथ वार्ता के लिए विद्युत भवन पहुंचे। उन्होंने दिल्ली और पंजाब मॉडल की तर्ज पर राहत देने की मांग की। दिनेश कुमार ने आश्वस्त किया कि इन मुद्दों पर उच्च स्तर पर बातचीत कर जल्द हल निकालेंगे। हालांकि, मीणा ने दो टूक कह दिया कि समाधान नहीं निकला तो मुख्यमंत्री आवास की तरफ कूच करेंगे।

इंटर डिस्कॉम स्थानांतरण नीति जल्द लागू हो
विद्युत कर्मचारियों एवं अधिकारियों का एक डिस्कॉम से दूसरे डिस्कॉम में स्थानांतरण नहीं हो पा रहा है। कर्मचारियों पर पारिवारिक जिम्मेदारी का भी मानसिक दबाव बना रहता है। विद्युत हादसों की चपेट में आने का एक कारण मानसिक दबाव भी है। इसलिए इंटर डिस्कॉम स्थानांतरण नीति लागू की जाए। डिस्कॉम एक मात्र सरकारी एजेंसी है, जहां पारस्परिक स्थानांतरण नहीं किए जा रहे।

यह भी मांग
-दिल्ली सरकार की तर्ज पर 300 यूनिट तक सभी उपभोक्ताओं को मुफ्त बिजली दी जाए।
-पंजाब सरकार की तर्ज पर किसानों को कृषि कनेक्शन के लिए मुफ्त बिजली उपलब्ध कराएं।
-किसानों को कृषि कनेक्शन तत्काल उपलब्ध कराएं।
-सभी उपभोक्ताओं के बिजली बिल 1 माह के बजाय 2 माह में जारी किए जाएं।
-स्थाई शुल्क, विद्युत शुल्क एवं नगरिया उपकर के नाम पर उपभोक्ताओं से लूट बंद हो।
-वीसीआर के नाम पर लूट बंद हो।
-सभी किसानों को दिन में ही बिजली उपलब्ध हो।
-तीनों बिजली वितरण कंपनी अपनी परफोर्मेंस के लिए गलत तरीके से टी एण्ड डी लॉस का आंकड़ा प्रस्तुत कर रही है। इस पर लगाम लगे।

Bhavnesh Gupta Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned