मोदी सरकार से राजस्थान कोटे की ऑक्सीजन उठाने में नाकाम रही गहलोत सरकार: चौधरी

कोरोना काल में जारी है सियासी बयानबाज़ी का दौर, पाली सांसद पीपी चौधरी का गहलोत सरकार पर पलटवार, राजस्थान को निर्धारित था 435 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का कोटा, कुप्रबंधन के चलते गहलोत सरकार नहीं उठा पाई ऑक्सीजन, मुख्यमंत्री ने सांसदों से केंद्र पर दबाव बनाने का किया था आग्रह, मोदी सरकार ने निर्धारित की थी राजस्थान कोटे की ऑक्सीजन, पर उसे उठाने में नाकाम रही गहलोत सरकार

By: nakul

Published: 13 May 2021, 02:41 PM IST

जयपुर।

प्रदेश में कोरोना प्रबंधन को लेकर सियासत गरमाई है। गहलोत सरकार के मंत्री और नेता जहां केंद्र सरकार पर राजनीतिक दुर्भावना के आरोप लगाते हुए आवश्यक दवाएं और संसाधन उपलब्ध नहीं करवाए जाने की बात कह रहे हैं, तो वहीं भाजपा नेता भी राज्य सरकार पर चिकित्सकीय कू-प्रबंधन का आरोप लगा रही हैं।

 

इसी क्रम में अब पाली से भाजपा सांसद पीपी चौधरी का एक ताज़ा बयान सामने आया है। सांसद चौधरी ने आज एक वीडियो प्रतिक्रिया ट्वीट करते हुए कहा है कि केन्द्र सरकार ने राजस्थान सरकार की मांग अनुसार 435 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का कोटा निर्धारित किया था, लेकिन राजस्थान सरकार संसाधनों की कमी के चलते उसे ऑक्सीजन के कोटे को उठाने में भी असफल रही है। सरकार की इस कार्यशैली की कीमत राजस्थानवासियों को चुकानी पड़ रही है। उन्होंने गहलोत सरकार को कोरोना प्रबंधन में पूरी तरह से सफल करार दिया।

 

 

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सरकार के मंत्री प्रदेश के सभी सांसदों पर केंद्र सरकार पर दबाव बनाने और उचित मात्रा में ज़रूरी संसाधन दिलवाये जाने की मांग उठा रहे हैं। सांसद पीपी चौधरी का ये बयान भी कांग्रेस नेताओं के उसी दबाव पर पलटवार के तौर पर देखा जा रहा है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned