जयपुर में सनसनीखेज वारदात... लड्डू गोपाल की डीपी नहीं बदली तो पता चला हत्या हो गई.....

सात बजे तक उनको घर के बाहर देखा गया था। उसके बाद देर भी डीपी नहीं बदली गई। उनकी साथी शिक्षका ने उनको फोन किया। उन्होनें फोन नहीं उठाया तो पड़ोसियों को फोन किया।

By: JAYANT SHARMA

Published: 11 Jan 2021, 03:12 PM IST

जयपुर में सनसनीखेज वारदात... लड्डू गोपाल की डीपी नहीं बदली तो पता चला हत्या हो गई.....
जयपुर
जयपुर के शिप्रापथ #jaipur-police इलाके में एक महिला #Murder -in-jaipur शिक्षिका विद्या देवी की हत्या के बाद #School-teacher अब उनके हत्यारों की तलाश में शहर भर में नाकाबंदी जारी हैं। सबसे बड़ी बात ये है कि इतने व्यस्त शहर में सवेरे सात बजे से दस बजे के बीच कोई हत्या करता है और उसके बाद हत्यारे फरार भी हो जाते हैं। दस बजे बाद जब हत्या का खुलासा होता हो तो पूरा शहर चैंक जाता है। हत्या की घटना का खुलासा भी एक लड्डू गोपाल की एक डीपी ने किया। अगर फोन में डीपी बदल दी जाती तो शिक्षिका की हत्या होने का खुलासा देर तक नहीं हो पाता।

रोज डीपी बदलती थीें, आज नहीं बदली तो पता चला हत्या हो गई
शिप्रापथ पुलिस ने बताया कि मृतका विद्या देवी टीचर थीें। शिप्रापथ थडी मार्केट की ओर अकेली रहतीं थीं। बेटा भोपाल में आईटी कंपनी में जाॅब कर रहा था। छोटे भाई युगातंर शर्मा जयपुर में एसडीएम हैं। घर में शादी की तैयारियां चल रहीं थी।

अगले महीेने पंद्रह फरवरी को बेटे की शादी की जानी थी इस कारण से स्कूल से छुट्टियां ले रखीं थीं। विद्या देवी का रूटीन था कि वे हर सवेरे करीब पांच बजे जागकर छह बजे तक बाहर तक की झाडू करतीं थीं। सात बजे तक अन्य कामों से भी फ्री होकर पूजा पाठ करतीं थीं। लड्डू गोपाल को सजाना, सवांरना रोज का काम था और बाद में उनकी फोटो को डीपी पर लगातीं थीें। उनके पड़ोसी, साथी टीचर और अन्य रिश्तेदार हर दिन उनकी डीपी से लड्डू गोपाल के दर्शन करते थे।

लेकिन आज रूटीन कुछ जेंच हुआ। सात बजे तक उनको घर के बाहर देखा गया था। उसके बाद देर भी डीपी नहीं बदली गई। उनकी साथी शिक्षका ने उनको फोन किया। उन्होनें फोन नहीं उठाया तो पड़ोसियों को फोन किया। पड़ोसियों ने नीचे जाकर घर में जाने की कोशिश की तो दरवाजा अंदर से बंद पाया। बाद में छत के रास्ते जब घर में एंट्री की तो पाया कि उनका शव रेलिंग के पास लटका हुआ है। बाद में पुलिस को इसकी सूचना दी गई। शव को मोर्चरी में रखवाया गया है और अब बेटे एवं परिवार के अन्य सदस्यों के आने का इंतजार किया जा रहा है।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned