फिर शुरू हुआ 'संगीतिका'

संगीत की विभिन्न विधाओं का ऑनलाइन प्रशिक्षण
राजस्थान संगीत संस्थान का इनिशिएटिव
कलाकारों को भी मिला रोजगार
संगीतिका का तीसरा चरण

By: Rakhi Hajela

Updated: 25 Aug 2020, 05:30 PM IST

राजस्थान संगीत संस्थान की ओर से आज यानी मंगलवार से एक बार फिर संगीतिका की शुरुआत की गई है। संगीतिका संगीत संस्थान का एक एेसा ऑनलाइन कार्यक्रम है जिसके जरिए हर आयु वर्ग के लोगों को संगीत की विभिन्न विधाओं का ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया जा रहा है। कोविड १९ के दौर में राजस्थान संगीत संस्थान की प्राचार्या डॉ. स्निग्धा शर्मा की ओर से शुरू किए गए एक प्रयास को देश विदेश में इस कदर सराहना मिली है कि आज से संस्थान ने इसके तीसरे चरण की भी शुरुआत की गई है।
कलाकारों को भी मिला रोजगार
गौरतलब है कि कोविड १९ के दौर में पूरा देश बंद था और सभी गतिविधियां ठप्प हो गई थीं। इसका असर कलाकारों पर भी पड़ा। काम बंद हो जाने से उनकी आथर््िाक स्थिति बेहद खराब होने लगी। एेसे समय में राजस्थान संगीत संस्थान ने संगीतिका की शुरुआत की। कलाकारों को मंच प्रदान करने के लिए संगीतिका के जरिए संगीत की विभिन्न विधाओं का प्रशिक्षण ऑनलाइन शुरू किया गया। जिससे न केवल जयपुर बल्कि पूरे देश और विदेश से लोग इस कार्यक्रम से जुड़े और कलाकारों को भी कुछ आर्थिक संबल मिला।

पांच साल से ८० साल के लोग जुड़े
आपको बता दें कि इस कार्यक्रम में पांच साल से बच्चों से लेकर ८० साल के लोग जुड़े थे। इसमें न केवल राजस्थान बल्कि देश के विभिन्न भागों के साथ ही दुबई, ऑस्ट्रेलिया आदि से भी लोग इस कार्यक्रम से जुड़े थे। इस कार्यक्रम से जुडऩे के लिए राजस्थान संगीत संस्थान की वेबसाइट पर आवेदन करना होगा। संस्थान ने प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग लेने के लिए शुल्क भी निर्धारित किया है। आवेदन के दौरान ही शुल्क जमा करवा कर किसी भी आयु वर्ग का व्यक्ति इससे जुड़ सकता है।
संगीतिका का तीसरा चरण
गौरतलब है कि लॉकडाउन के दौरान शुरू किए गए इस इनिशिएिटव को इतनी अधिक सराहना मिली कि राजस्थान संगीत संस्थान ने इसका दूसरा चरण भी आयोजित किया। जिसमें १०० से अधिक लोग शामिल हुए और इसकी समाप्ति के साथ ही इसे और आगे बढ़ाए जाने की मांग उठने लगी। एेसे में संस्थान ने इसका तीसरा चरण शुरू किए जाने का निर्णय लिया। आज यानी २५ अगस्त से इसकी फिर से शुरुआत की गई है। आपको बता दें कि संगीतिका के तीसरे चरण में भी बड़ी संख्या में न केवल विद्यार्थी बल्कि हर आयु वर्ग के लोग इससे जुड़े हैं।
इनका कहना है,
लॉकडाउन के दौरान हमने संगीतिका की शुरुआत की थी, जिसे बेहद अच्छा रिस्पॉन्स मिला। इसे देखते हुए एक बार फिर हम संगीतिका की शुरुआत कर रहे हैं। इससे कलाकारों को मंच के साथ आर्थिक संबल मिलेगा और लोगों को संगती से जुडऩे का मौका।
डॉ. सिन्ग्धा शर्मा, प्राचार्या
राजस्थान संगीत संस्थान

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned