scriptMustard and Gram buying with MSP price | क्यों परवान नहीं चढ़ रही समर्थन मूल्य पर चना और सरसों की खरीद....क्रय केन्द्रों पर क्यों नहीं पहुंच रहे किसान.... | Patrika News

क्यों परवान नहीं चढ़ रही समर्थन मूल्य पर चना और सरसों की खरीद....क्रय केन्द्रों पर क्यों नहीं पहुंच रहे किसान....


सहकारिता विभाग की ओर से समर्थन मूल्य पर चना ओर सरसों की खरीद शुरू किए 4 दिन हो गए, लेकिन रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद भी किसान अभी विक्रय केन्द्रों पर पहुंच नहीं रहे हैं। जबकि केन्द्र सरकार ने राज्य सरकार को चना खरीद का 5.97 लाख मीट्रिक टन और सरसों खरीद का 13.03 लाख मीट्रिक टन लक्ष्य दिया है।

जयपुर

Updated: April 04, 2022 04:23:20 pm

सहकारिता विभाग की ओर से समर्थन मूल्य पर चना ओर सरसों की खरीद शुरू किए 4 दिन हो गए, लेकिन रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद भी किसान अभी विक्रय केन्द्रों पर पहुंच नहीं रहे हैं। जबकि केन्द्र सरकार ने राज्य सरकार को चना खरीद का 5.97 लाख मीट्रिक टन और सरसों खरीद का 13.03 लाख मीट्रिक टन लक्ष्य दिया है। सरकार ने सरसों का समर्थन मूल्य 5050 रुपए प्रति क्विंटल और चने का समर्थन मूल्य 5230 रुपए प्रति क्विंटल निर्धारित किया है। सरकार ने समर्थन मूल्य पर खरीद के लिए 25 मार्च से ऑनलाइन पंजीयन शुरू कर दिया था लेकिन जयपुर क्षेत्र में अभी तक मात्र 5000 किसानों ने पंजीयन करवाया है। इसमें सरसों बेचने के लिए किसी किसान ने पंजीयन नहीं करवाया है। चना की फसल बेचने के लिए पंजीयन तो हुए हैं लेकिन किसान क्रय केन्द्र पर फसल लेकर नहीं पहुंच रहे हैं। राजफेड के जयपुर क्षेत्र के अधिकारियों का कहना है कि खुली मंडी में सरसों का मूल्य 6000 हजार से भी अधिक मिलने के कारण किसानों ने सरसों बेचने के लिए पंजीयन नहीं करवाया है। वहीं चने के मंडी भाव भी समर्थन मूल्य से कुछ ही कम चल रहे हैं। मंडी में इन दिनों चने के भाव 4800 से 5100 रुपए के बीच मिल रहे हैं।
क्यों परवान नहीं चढ़ रही समर्थन मूल्य पर चना और सरसों की खरीद....क्रय केन्द्रों पर क्यों नहीं पहुंच रहे किसान....
क्यों परवान नहीं चढ़ रही समर्थन मूल्य पर चना और सरसों की खरीद....क्रय केन्द्रों पर क्यों नहीं पहुंच रहे किसान....
ऐसे में किसानों को कुछ दिनों में मंडी में चने के भाव भी बढ़ने की आशा है। यही कारण है कि सरसों और चना की समर्थन मूल्य पर खरीद करने के लिए बनाए क्रय केन्द्रों पर किसान अपनी फसल नहीं ला रहे हैं। किसानों का मानना है कि 10 अप्रैल तक चने का भाव बढ़ने का इंतजार किया जाए। अगर भाव नहीं बढ़ेगा तो सरकारी क्रय केन्द्र पर बेच देंगे। राजफेड अधिकारियों के मुताबिक सरकार ने प्रदेश भर में चना के 635 और सरसों के 635 सहित कुल 1270 क्रय केंद्रों पर सरसों और चना की समर्थन मूल्य पर खरीद शुरू की है। किसान के पंजीयन ई-मित्र या संबंधित खरीद केंद्र पर करने की सुविधा दी गई है। अधिकारियों का कहना है कि अगर खुली मंडी में सरसों के भाव 6000 से ज्यादा रहे तो किसान सरसों बेचने सरकारी केन्द्र पर नहीं आएंगे। मंडी में चने का मूल्य भी अभी स्थिर नहीं हुआ है। मूल्य स्थिर होने के बाद ही किसान अपनी फसल सरकारी क्रय केन्द्रों पर लाएंगे। उन्होंने बताया कि सरकारी क्रय केन्द्रों पर जून महीने तक समर्थन मूल्य पर खरीद की जाएगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद मुद्दे पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का पहला बयान, केंद्रीय मंत्री भी बोलेज्ञानवापी मामले को लेकर अखिलेश यादव ने हिंदू देवी-देवताओं पर की विवादित टिप्पणीअमरीकी शेयर बाजार धड़ाम, मंदी की आशंका के बीच दो साल की सबसे बड़ी गिरावटIPL 2022 LSG vs KKR : डिकॉक-राहुल के तूफान में उड़ा केकेआर, कोलकाता को रोमांचक मुकाबले में 2 रनों से हरायानोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेरपुलिस में मामला दर्ज, नाराज कांग्रेस विधायक का इस्तीफा, जानें क्या है पूरा मामलाडिकॉक-राहुल ने IPL में रचा इतिहास, तोड़ डाला वार्नर और बेयरेस्टो का 4 साल पुराना रिकॉर्डकर्क सहित इन राशि वालों के लिए धन-कारोबार की दृष्टि से अनुकूल है आज का दिन, पेशेवर यात्राएं होंगी सफल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.