scriptNaming Bangla make information available the general public | west bengal: आमजन तक जानकारी पहुंचाने के लिए बांग्ला में नामकरण | Patrika News

west bengal: आमजन तक जानकारी पहुंचाने के लिए बांग्ला में नामकरण

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को बंगाल में केन्द्रीय योजनाओं के नाम बदलने पर सफाई देते हुए अजीबो गरीब तर्क पेश कर डाला।

जयपुर

Published: April 28, 2022 06:23:06 pm

कोलकाता. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को बंगाल में केन्द्रीय योजनाओं के नाम बदलने पर सफाई देते हुए अजीबो गरीब तर्क पेश कर डाला। उन्होंने कहा कि आम लोगों तक केंद्रीय योजनाओं की जानकारी पहुंचाने के लिए बांग्ला भाषा में नामकरण करने का अनूठा तरीका निकाला है।
west bengal: आमजन तक जानकारी पहुंचाने के लिए बांग्ला में नामकरण
प्रेस कॉन्फ्रेंस में जानकारी देती मुख्यमंत्री ममता बनर्जी
नाम स्थानीय भाषा में

राज्य सचिवालय में बुधवार को उच्च पदस्थ अधिकारियों की आपात बैठक और कलक्टरों के साथ आभासी बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि बंगाल की आवास योजना कवि गुरु रवीन्द्रनाथ टैगोर के बंगाल की हवा और पानी की थीम पर आधारित है। समूचे भारत में जो भी योजनाएं लागू हैं । बंगाल में उनके नाम स्थानीय भाषा में रखे जाते हैं, क्योंकि प्रत्येक राज्य की अलग भाषा और बोली है। बंगाल के लोगों तक जानकारी पहुंचाने के लिए केन्द्रीय योजनाओं के नाम बदलना एक अनूठा तरीका है। उन्होंने यह टिप्पणी नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर उत्तर दिनाजपुर के कलक्टर अरविंद कुमार मीणा पर केंद्रीय योजनाओं के नाम बदलने का आरोप लगाया था।
राज्यों से आया केन्द्र के पास पैसा

नाम लिए भाजपा पर तीखा वार करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि कुछ लोग यह कहकर गर्व की अनुभव करते हैं कि ये केन्द्र के पैसे हैं। लेकिन केन्द्र के पास पैसे आते कहां से हैं। केन्द्र बंगाल से 75 फीसदी टैक्स वसूलता है और वापसी में राज्य को सिर्फ 25 प्रतिशत मिलता है। मैंने केन्द्र से बंगाल को 50 प्रतिशत टैक्स वापस देने की मांग की। लेकिन केन्द्र नहीं माना। केन्द्र सरकार 75 प्रतिशत टैक्स भी ले और राज्य पर सब कुछ करने की जिम्मेदारी थोप दे। ये नहीं चलेगा।
केंद्र लूटे और हम वैट कम करें: ममता

कोलकाता. लोगों को राहत देने के लिए राज्य सरकारों को पेट्रोल और डीजल पर वैट कम करने की केंद्र की नसीहत पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर तीखा वार किया है। उन्होंने बुधवार को राज्य सचिवालय में संवाददाताओं से कहा कि केंद्र ने तो कीमतें बढ़ा दी है और पीएम मोदी राज्यों से वैट कम करने का आग्रह कर रहे हैं। यह भ्रामक है। केन्द्र सरकार पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ाकर पैसे लूट रही है और हम वैट कम करके पेट्रोलियम पद्धार्थ की कीमतों में छूट दें। ये कहां का न्याय है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री एक तरफा बात नहीं कर सकते।
बोलने का मौका नहीं मिला

ममता ने कहा कि कोरोना संक्रमण को लेकर बुलाई गई बैठक में पीएम मोदी के अलावा किसी को भी बोलने का मौका नहीं मिला। वे अपने एजेंडे के मुताबिक काम कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि पीएम मोदी ने कोरोना महामारी की चौथी लहर से निपटने को लेकर आयोजित वर्चुअल बैठक में सभी राज्यों से पेट्रोलियम पदार्थों पर वैट कम करने का आग्रह किया।
केन्द्र का सौतेला व्यवहार

ममता ने कहा कि केंद्र भाजपा शासित राज्यों को काफी पैसे देता है, लेकिन गैर-भाजपा शासित राज्यों के साथ सौतेला व्यवहार करता है। भाजपा शासित राज्यों को गैर भाजपा शासित राज्यों के मुकाबले विभिन्न योजनाओं के मद में 50 प्रतिशत अधिक पैसे मिलते हैं। केन्द्र को उन्हें 4000 से 5000 करोड़ रुपए देने में कोई फर्क नहीं पड़ता। लेकिन गैर भाजपा शासित राज्यों को वे पैसे नहीं देते । केन्द्र पर बंगाल सरकार का करीब 91000 करोड़ रुपए बकाया है। अगर केन्द्र इसमें से 50000 करोड़ रुपए भी दे दे तो हम बहुत कुछ कर लेंगे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

अफगानिस्तान के काबुल में भीषण धमाका, तालिबान के पूर्व नेता की बरसी पर शोक मना रहे लोगों को बनाया गया निशानाPunjab Borewell Accident: बोरवेल में गिरे 6 साल के बच्चे की नहीं बचाई जा सकी जान, अस्पताल में हुई मौतBJP को सरकार बनाने के लिए क्यूँ जरूरी है काशी और मथुरा? अयोध्या से बड़ा संदेश देने की तैयारी..पश्चिम बंगाल का पूर्व मेदिनीपुर जिला बम धमाकों से दहला, तलाशी के दौरान बरामद हुए 1000 से अधिक बमIPL 2022, SRH vs PBKS Live Updates: पंजाब ने हैदराबाद को 5 विकेट से हरायाकपिल देव के AAP में शामिल होने की चर्चा निकली गलत, सोशल मीडिया पर पूर्व कप्तान ने खुद साफ की स्थितिआख़िर क्यों असदुद्दीन ओवैसी बार-बार प्लेसेज ऑफ़ वर्शिप एक्ट का रो रहे हैं रोना, यहां जानेंपुजारा और कार्तिक की टीम में वापसी, उमरान मालिक को भी मिला मौका, देखें दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड दौरे का पूरा स्क्वाड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.