नारकोटिक्स विभाग के तीन अधिकारी और दो तस्कर गिरफ्तार, लाखों की नकदी और मादक पदार्थ बरामद

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

By: pushpendra shekhawat

Published: 04 Apr 2019, 08:57 PM IST

मुकेश शर्मा / जयपुर. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने एक बार फिर नारकोटिक्स विभाग में बड़ी कार्रवाई की है। हालांकि नारकोटिक्स के अतिरिक्त निदेशक रहे सहीराम मीणा की गिरफ्तारी के बाद इस विभाग में घालमेल करने वाले अधिकारी सतर्क और बचकर घपले कर रहे थे। इसके चलते एसीबी खुद के मामले में नारकोटिक्स के एक उपनिरीक्षक भानूप्रताप सिंह को ही गिरफ्तार किया, जबकि चित्तौडगढ़़ में नारकोटिक्स के अधीक्षक सुधीर यादव को मादक पदार्थ रखने के मामले में और हवलदार प्रवीण सिंह को आबकारी एक्ट के तहत स्थानीय पुलिस को सौंप गिरफ्तार करवाया गया।

 

एसीबी डीजी डॉ. आलोक त्रिपाठी, एडीजी सौरभ श्रीवास्तव और आईजी दिनेश एमएन ने गुरुवार को संयुक्त रूप से प्रेसवार्ता कर इस संबंध में जानकारी दी। एसीबी डीजी त्रिपाठी ने कहा कि नारकोटिक्स विभाग में अफीम की खेती में बड़े स्तर पर घूसकांड की सूचना पर कई माह से नजर रखी जा रही थी। दो माह पहले सहीराम मीणा का मामला बीच में आ गया तो उस पर एसीबी ने कार्रवाई कर दी। लेकिन इस मामले पर अपनी निगरानी बनाए हुए थी।

 

कागजों में अफीम के डोडा नष्ट किए, हकीकत में नहीं

एसीबी डीजी त्रिपाठी ने बताया कि नारकोटिक्स विभाग के नियमानुसार अफीम की खेती के बाद नारकोटिक्स विभाग के अधिकारी अन्य विभाग के अधिकारियों के साथ अफीम के डोडा को जलाकर नष्ट करवाते हैं। बुधवार को डोडा जलाने की अंतिम तिथि थी। लेकिन पकड़े गए अधिकारियों ने डोडा नहीं जलाकर उसे कागजों में ही जला नष्ट करना बता दिया था। नारकोटिक्स अधिकारी बुधवार को उक्त कार्रवाई कर लौट रहे थे। तभी चित्तौडगढ़़ में सत्कार होटल के पास स्थानीय पुलिस से नाकाबंदी करवा उनकी गाड़ी को रोका गया। कार में सुधीर यादव, भानूप्रताप सिंह, प्रवीण सिंह, केन्द्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो के वरिष्ठ सहायक रामविलास मीणा को पकड़ा गया। तलाशी में इनके पास 17850 रुपए और अफीम काश्तकारों के अपरूटीनी कार्य के अधूरे दस्तावेज जब्त किए।

 

मौके पर जांच जारी

एसीबी में बांसवाड़ा के एएसपी हेरम्ब जोशी और उनकी टीम काश्तकारों की फसल हंकाई कार्य, दलाल व मुखियाओं से अवैध वसूली के संबंध में मौके पर जाकर जांच कर रही है। कई जगह अपरूटींग कार्यवाही में फर्जीवाड़ा सामने आया है।

 

इनके घर से यह मिला

- अधीक्षक सुधीर यादव : आदर्श कॉलोनी कुम्भा नगर आवास से तलाशी में 84770 रुपए, 13 लाख रुपए की एफडीआर, हरियाणा के भिवानी में पत्नी के नाम 250 वर्गगज का आवासीय भूखंड, 180 ग्राम सोने के गहने, तीन बैंक खातें में 5 लाख रुपए, घर में ही 15 ग्राम स्मैक मिली (चित्तौडगढ़़ के सदर थाने में एनडीपीएस एक्ट मामला दर्ज कर गिरफ्तार)

 

- उप निरीक्षक भानू प्रताप सिंह : आनंद विहार आवास से 230870 रुपए अवैध मिले

 

- हवलदार प्रवीण सिंह : नारकोटिक्स कॉलोनी स्थित आवास से 35000 रुपए, अवैध 25 बोतल अंग्रेजी शराब मिली

 

- वरिष्ठ सहायक रामविलास मीणा : चित्तौडगढ़़ में होटल सत्कार के रूम से 13500 रुपए मिले, भूमिका की जांच जारी

 

तस्कर के पास मिली नोट गिनने की मशीन, 22 लाख गिनने में आसानी हुई

एसीबी और चित्तौडगढ़़ पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में तस्कर छगन निवासी निम्बाहेड़ा के गोराजी के यहां 125 किलो अफीम 14 बाल्टियों में मिला, 66 बोरा डोडा पोस्त, 16 बोरों में पोस्त दाना, 4 अवैध हथियार (एक डबल बैरल मजल लोडिंग गन, एक सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल, दो देसी कट्टे मय तीन कारतूस, इनमें पिस्टल लोडेड थी) और 2295525 रुपए नकद बरामद हुए। छगन के घर से नोट गिनने की मशीन भी मिली, इससे नोट गिनने मे आसानी हो गई। जबकि तस्कर किशन निवासी राशमी स्थित भीमगढ़ के यहां 15 बोरों में डोडा चूरा और तीन बाल्टियों में 30 किलो अफीम बरामद हुई। चित्तौडगढ़़ थाना पुलिस दोनों तस्करों को गिरफ्तार कर जांच कर रही है।

pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned