नेचुरल स्वीटनर का चुनाव ही होगा बेहतर

नेचुरल स्वीटनर मीठेपन की ललक दूर करने के साथ ही कई तरह के स्वास्थ्य लाभ भी देते हैं

मैपल सिरप का सेवन करें
मैपल सिरप मीठा होने के साथ ही स्वादिष्ट भी होता है। किसी भी फूड और ड्रिंक में इस सिरप को एड कर आप उसका फ्लेवर बदल सकते हैं। मैपल सिरप में भी मैग्नीशियम और जिंक मिनरल अच्छी मात्रा में होते हैं, जो शरीर में एंटी ऑक्सीडेंट्स के प्रोडक्शन को सपोर्ट करते हैं। इस तरह हृदय संबंधी रोगों की आशंका को कम किया जा सकता है। मधुमेह रोगियों के लिए यह लाभकारी होता है।

अगेवी सिरप
इस नेचुरल स्वीटनर को अगेवी प्लांट से प्राप्त किया जाता है। वाइट शुगर की तुलना में इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है। इसमें कैलोरी की मात्रा भी कम होती है। इसलिए वजन कम करने के चक्कर में यदि आपने मीठा छोड़ दिया है तो इस सिरप को डाइट में एड करना बेहतरीन विकल्प हो सकता है।

पॉपुलर स्टीविया
नेचुरल स्वीटनर के रूप में पिछले कुछ समय से स्टीविया बहुत लोकप्रिय हुआ है। इसमें शुगर की तुलना में २००-३०० गुना ज्यादा मीठापन होता है। यह ब्लड शुगर लेवल को प्रभावित नहीं करता है। स्टीविया ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल करने का काम करता है। इसमें कैल्शियम भी अच्छी मात्रा में होता है।

मोलासेस
मोलासेस नेचुरल शुगर भी स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी होती है। यह शरीर में तुरंत एनर्जी लाने का काम करती है। साथ ही आयरन से भरपूर होने के कारण शरीर को अंदरूनी ताकत भी देती है। इसमें कैल्शियम, कॉपर, मैग्नीशियम, पोटेशियम और मंैगनीज आदि महत्त्वपूर्ण मिनरल्स होते हैं, जो कई तरह की शारीरिक गतिविधियों के लिए आवश्यक होते हैं।

जाइलिटोल
जाइलिटोल कई प्रकार के फल और सब्जियों के फाइबर का एक्स्ट्रेट होता है। यह नेचुरल स्वीटनर दांतों संबंधी रोगों की आशंका को कम करता है। इसका उपयोग कई तरह के डेंटल प्रोडक्ट के निर्माण में किया जाता है। इस नेचुरल शुगर में भी कैलोरी की मात्रा कम होती है। इसलिए मोटापा कम करने वाले और मधुमेह रोगी, दोनों के लिए लाभकारी है।

सॉरबिटोल और मैनीटोल
सॉरबिटोल और मैनीटोल शुगर एक तरह से शुगर एल्कोहल होते हैं। सॉरबिटोल कई तरह के फलों में पाया जाता है। सॉरबिटोल शुगर की तुलना में ६० फीसदी मीठा होता है, जबकि मैनीटोल में मीठापन इसका आधा होता है। इन दोनों ही स्वीटनर्स में कैलोरी की मात्रा कम होती है। इसलिए मधुमेह रोगियों के लिए इस स्वीटनर को भी सुरक्षित माना जाता है।

Archana Kumawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned