अश्वगंधा, त्रिफला और आंवला बुजुर्गों को बनाते हैं सेहतमंद

अश्वगंधा, त्रिफला और आंवला बुजुर्गों को बनाते हैं सेहतमंद

Divya Sharma | Publish: Jul, 26 2019 01:14:30 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

शिरोधारा, शिरोबस्ती, अभ्यंग, वमन, विरेचन आदि से शरीर का शुद्धिकरण होता है। उम्रदराज को नियमित ये उपचार डॉक्टरी सलाह से प्रयोग में लेने चाहिए।

इस मौसम में वात दोष से बुजुर्गों शरीर का कमजोर होना स्वाभाविक है। जानें शरीर की रोग प्रतिरोधकता बढ़ाने के नुस्खे।
* पिसे अश्वगंधा की डेढ़ चम्मच मात्रा सुबह शाम दूध के साथ ले सकते हैं। संक्रमण से बचाव होगा।
* सूखा व पिसा आंवला १-१ चम्मच सुबह शाम गुनगुने पानी के साथ लें। इसके अलावा आंवले एक मुरब्बा भी खा सकते हैं।
* कब्ज में १-१ चम्मच पिसी हरड़ गुनगुने पानी के साथ सुबह-शाम लें।
* त्रिफला पाउडर की १-१ चम्मच की मात्रा सुबह शाम लें।

*४-५ पत्ते तुलसी और १-२ लौंग और काली मिर्च को एक गिलास पानी में उबालें, पानी आधा रहने पर ठंडा कर और छानकर पिएं, इम्युनिटी बढ़ेगी ।

*एक गिलास दूध में आधी चम्मच हल्दी पाउडर मिलकर पीने से भी फायदा होता है।

प्राकृतिक उपचार
शिरोधारा, शिरोबस्ती, अभ्यंग, वमन, विरेचन आदि से शरीर का शुद्धिकरण होता है। उम्रदराज को नियमित ये उपचार डॉक्टरी सलाह से प्रयोग में लेने चाहिए।

डॉ. राकेश कुमार शर्मा, एसोसिएट प्रोफेसर, शरीर रचना विभाग, डॉ. एसआर आयुर्वेद यूनिवर्सिटी, जोधपुर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned