सूर्यदेव दिखाएंगे रौद्र रूप- कल से शुरू होने जा रहा है ‘नौ तपा‘, पारा जा सकता है पचास डिग्री पार!

ज्येष्ठ के महीने में सूर्य के रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करने के साथ ही नौ तपा का योग बनता है...

By: dinesh

Published: 24 May 2018, 03:16 PM IST

जयपुर। गर्मी अपने चरम पर चल रही है। सूर्य देवता आग उगल रहे है। धरती का हर इंसान गर्मी से व्याकुल है। इस बीच परेशान करने वाली एक और खबर यह है कि 25 मई यानि कल से गर्मी अपने रौद्र रुप में पहुंच रही है। जी हां, कल से ‘नौ तपा‘ शुरू हो रहा है और इन नौ दिनों में गर्मी ज्यादा बढऩे वाली है। लेकिन अगर इन नौ दिनों में राहत की बौछारे नहीं बरसती और आंधी-अधंड़ का दौर नहीं आता तो फिर अच्छी बारिश के योग बन सकते हैं।

 

ऐसे बनता है नौ तपा योग
ज्येष्ठ के महीने में सूर्य के रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करने के साथ ही नौ तपा का योग बनता है। ज्योतिषाचार्य राजकुमार चतुर्वेदी के अनुसार नौ दिनों धरती पर सबसे ज्यादा पारा होता है खासतौर पर उन जगहों पर जहां गर्मी रहती है। इससे बचना और दोपहर के कुछ घंटों में बाहर नहीं निकलना ही इसका उपाय है। इसी उपाय से इन नौ दिनों तक गर्मी से बचा जा सकता है।

 

सैंतालीस डिग्री तक जा सकता है पारा
प्रदेश की बात की जाए तो इन नौ दिनों में जोधपुर , जैसलमेर , बाड़मेर, समेत अन्य मैदानी इलाकों में तो पारा पचास डिग्री तक को भी छू सकता है। जयपुर में भी पारा सैंतालीस डिग्री तक जा सकता है। नौ दिनों में पडऩे वाले मंगलवार को तो पारा सर्वोतम तेजी पर रहना तय है।

 

nau tapa

 

ये नौ दिन ही बताएंगे सूखा पड़ेगा या होगी अच्छी बारिश
ज्योतिषिय मतों की मानें तो नौ तपा के नौ दिन ही बारिश और सूखे की भविष्यवाणी तय करते हैं। नौ दिनों के भीतर अगर आंधी और अधंड का दौर रहता है और बौछारें गिरती हैं तो ऐसे समय में आने वाला मानसून प्रभावित हो सकता है। मानसून के प्रभावित होने पर कहीं-कहीं सूखा पड़ सकता है और कम बारिश का योग बनता है। ज्येष्ठ माह में सूर्य के वृष राशि के 10 अंश से 23 अंश 40 कला तक नौतपा कहलाता है।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned