टीचर बनने का सपना देखने वाले युवाओं के लिए खुशखबरी

B.ed admission 2019 rajasthan - बी एड में प्रवेश के नए शिड्युल को हाईकोर्ट से मंजूरी मिल गई है, लेकिन इसके लिए राज्य सरकार को 50 हजार रुपए हर्जाना देना होगा।

By: santosh

Published: 07 Jul 2019, 01:16 PM IST

जयपुर। b.ed admission 2019 rajasthan - टीचर बनने का सपना देखने वाले युवाओं के लिए खुशखबरी है। बी एड में प्रवेश के नए शिड्युल को हाईकोर्ट से मंजूरी मिल गई है, लेकिन इसके लिए राज्य सरकार को 50 हजार रुपए हर्जाना देना होगा। नए शिड्युल के तहत कोर्ट ने काउंसलिंग प्रक्रिया के लिए 10 अगस्त व सत्र आरम्भ करने के लिए 19 अगस्त ( rajasthan ptet 2019 ) तक का समय दिया है। साथ ही, हर्जाना राशि एक माह में राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण में जमा कराने के निर्देश दिए हैं।


न्यायाधीश मोहम्मद रफीक व एन एस ढ्डडा की खण्डपीठ ने राज्य सरकार के प्रार्थना पत्र पर यह आदेश दिया है। राज्य सरकार की ओर से अतिरिक्त महाधिवक्ता डॉ. विभूति भूषण शर्मा ने कहा कि बी एड में प्रवेश के लिए पूर्व में कोर्ट ने शिड्युल निर्धारितहाईकोर्ट किया था, उसे बदला जाए। उसके तहत एनओसी के लिए 31 मार्च तक का समय निर्धारित था, लेकिन आचार संहिता के कारण एनओसी देना संभव नहीं हो गया।

 

मामले में चुनाव आयोग से अनुमति के लिए 13 मार्च को प्रक्रिया शुरू कर दी थी, लेकिन आयोग से 19 अप्रेल का पत्र सरकार को 26 अप्रेल को मिला। एेसे में बी एड में प्रवेश के लिए नया शिड्युल तय हो। कोर्ट ने कहा कि ऐसे मामले आए दिन सामने आ रहे हैं, जिनमें एनसीटीई के कॉलेजों को मान्यता देने के बावजूद राज्य सरकार से एनओसी नहीं मिल पा रही है। इसके कारण कोर्ट में प्रकरण आ रहे हैं।

 

चुनाव आयोग के अदालती आदेश की पालना में बाधा बनने की बात स्वीकार नहीं की जा सकती। साथ ही, कॉलेजों को एनओसी ( eligibility for b.ed in rajasthan ) के मामले में लगते आरोपों में बल लगता है। वहीं, सरकार के प्रार्थना पत्र को आंशिक मंजूर करते हुए कोर्ट ने अनुमति दी कि समन्वयक को सूची अब 15 जुलाई तक सौंपी जा सकेगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned