खुशखबर: आयुष्मान योजना में बीमा सुरक्षा अब 5 लाख, 1.10 करोड़ परिवारों को होगा लाभ

प्रदेश में एक सितंबर से नए रूप में शुरू की गई आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना ( Ayushman Bharat Mahatma Gandhi Swasthya Bima Yojana ) में अब पात्र परिवारों को भी 5 लाख रुपए तक की बीमा सुरक्षा मिलेगी। अब तक अधिकतम सीमा 3 लाख रुपए थी। 12 दिसंबर को वर्तमान सेवा प्रदाता बीमा कंपनी का कार्यकाल पूरा होगा...

By: dinesh

Updated: 03 Dec 2019, 12:22 PM IST

जयपुर। प्रदेश में एक सितंबर से नए रूप में शुरू की गई आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना ( Ayushman Bharat Mahatma Gandhi Swasthya Bima Yojana ) में अब पात्र परिवारों को भी 5 लाख रुपए तक की बीमा सुरक्षा मिलेगी। अब तक अधिकतम सीमा 3 लाख रुपए थी। 12 दिसंबर को वर्तमान सेवा प्रदाता बीमा कंपनी का कार्यकाल पूरा होगा। नई बीमा कंपनी के चयन की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। माना जा रहा है कि प्रदेश में नई बीमा सुरक्षा वाली यह योजना संभवत: दिसंबर के दूसरे पखवाड़े से लागू हो जाएगी।

दोनों रखे आधार
चिकित्सा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह ने बताया कि नई योजना में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के तहत पात्र परिवार और सामाजिक आर्थिक जातिगत जनगणना डाटा 2011 के तहत चिन्हित परिवारों को इस योजना का लाभ मिलेगा। योजना के तहत गंभीर बीमारियों के उपचार के लिए 5 लाख रुपए तक का बीमा, सैकंडरी बीमारियों के लिए 50 हजार रुपए और गंभीर बीमारियों के लिए 5 लाख तक की बीमा सुरक्षा मिलेगी।

सेहत बीमा अब तक
अगस्त में भामाशाह और आयुष्मान बीमा योजनाओं को मर्ज कर दिया था।
भामाशाह में करीब एक करोड़ परिवारों के करीब चार करोड़ से अधिक लोग थे।
आयुष्मान के लाभार्थी भी इसमें जोडऩे पर दस लाख नए परिवारों के करीब 40 लाख नए लोग शामिल हुए।
एक सितंबर से भामाशाह कार्ड का नाम बदलकर जन आधार कार्ड किया गया।
1354 बीमारियों के उपचार में इन योजनाओं का लाभ दिया जाएगा।

- यह योजना देश भर में मिसाल बनेगी। हमने आयुष्मान के साथ भामाशाह बीमा के पात्रधारियों को भी जोड़ लिया है। बीमा सुरक्षा राशि भी बढ़ाई है।
रघु शर्मा, चिकित्सा मंत्री

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned