राजस्थान में एक लाख पुलिसवालों के लिए राहत की खबर... अब ऐसा नहीं होगा पुलिसवालों के साथ

बताया जा रहा है कि अब जल्द ही पुलिस कार्मिक भी आवश्यक्ता होने पर ज्यादा अवकाश ले सकेंगे। इस दौरान उन्हें अपने अफसरों को इसकी सूचना और लगातार जानकारी देनी होगी। इस तरह का सर्कुलर पुलिस मुख्यालय से जारी करने की तैयारी की जा रही है। गौरतलब है कि शादियों के सीजन से पहले इस तरह का सर्कुलर पुलिसकर्मियों और उनके #Police-family परिवार को राहत देने वाला साबित होगा।

By: JAYANT SHARMA

Published: 20 Nov 2020, 12:53 PM IST

जयपुर
पिछले दिनों छुट्टियां नहीं मिलने से परेशान चल रहे दो #Policeman पुलिसकर्मियों की मौत के बाद आखिर अब #Rajasthan-police-headquarter पुलिस महकमा जागा है। पुलिस मुख्यालय के अफसरों ने प्रदेश भर के पुलिस कार्मिकों को राहत देने की तैयारी कर ली है। बताया जा रहा है कि अब जल्द ही पुलिस कार्मिक भी आवश्यक्ता होने पर ज्यादा अवकाश ले सकेंगे। इस दौरान उन्हें अपने अफसरों को इसकी सूचना और लगातार जानकारी देनी होगी। इस तरह का सर्कुलर पुलिस मुख्यालय से जारी करने की तैयारी की जा रही है। गौरतलब है कि शादियों के सीजन से पहले इस तरह का सर्कुलर पुलिसकर्मियों और उनके #Police-family परिवार को राहत देने वाला साबित होगा।

दो पुलिसकर्मियों की हुई थी मौत, एक को अटैक आया तो दूसरे ने फांसी लगाई
दरअसल पिछले दिनों सात दिन के दौरान ही जयपुर और भरतपुर में दो पुलिस कार्मिकों की मौत हो गई थी। जयपुर में पुलिस लाइन में तैनात एक कमांडो ने रेलिंग के फंदा लगाकर जान दे दी थी। बताया जा रहा है कि अगले महीने सात तारीख को उसकी शादी थी और शादी के लिए मांगी गई छुट्टियों में कुछ अड़चन आ रही थी। इस कारण वह परेशान चल रहा था। उधर भरतपुर के उच्चैन थाने के एसएचओ की भी हार्ट अटैक से मौत हो गई थी। एसएचओ के बेटे की 25 नवम्बर को शादी है। 16 नवम्बर को सगाई का कार्यक्रम था। लेकिन काम के दबाच के चलते उनको मांगी गई छुट्टियां नहीं मिल पा रही थी इस कारण वे परेशान चल रहे थे। इस दौरान उनको अटैक आया और अस्पताल में मौत हो गई।

तनाव कम करने के लिए जारी किया फोन नंबर
इन घटनाओं के बाद पुलिस मुख्यालय में एक सेंटर भी बनाया गया है। इस सेंटर में कॉल कर पुलिसकर्मी अपने तनाव के बारे में जानकारी अफसरों और चिकित्सकों से साझा कर सकेंगे और उनको इसका उचित समाधान बताया जाएगा। लैंड लाइन इस नंबर पर कार्यालय समय में फोन किया जा सकता है। इस नंबर के जारी होने के बाद कई पुलिसकर्मियों ने अपने काम के बारे में तनाव का जिक्र इस नंबर पर किया है। उनको इसका जल्द ही समाधान होने की उम्मीद है।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned