दिल्ली कोर्ट के फैसले का स्वागत, कमलनाथ का विरोध करेंगे : सिख समाज

दिल्ली कोर्ट के फैसले का स्वागत, कमलनाथ का विरोध करेंगे : सिख समाज

Harshit Jain | Publish: Dec, 17 2018 09:55:56 PM (IST) | Updated: Dec, 17 2018 09:55:57 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

www.patrika.com

जयपुर. वर्ष 1984 के सिख कत्लेआम मामले में सज्जनकुमार को दोषी करार देने के दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले का यहां राजस्थान सिख समाज ने स्वागत किया है।

राजापार्क स्थित गुरुद्वारा में सोमवार को प्रेस वार्ता में राजस्थान सिख समाज के प्रतिनिधियों ने कहा, हम कोर्ट के फैसले का स्वागत और गृहमंत्री-प्रधानमंत्री का शुक्रिया अदा करते हैं। दंगे में कमलनाथ की भी भूमिका होने का आरोप लगाते हुए समाज के प्रतिनिधियों ने कहा, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में कमलनाथ ने शपथ ली है लेकिन समुदाय उनका विरोध करेगा।

चश्मदीद अवतार सिंह की आंखें हुईं नम
चश्मदीद अवतार सिंह ने नम आंखों से घटना का जिक्र करते हुए कहा, 1984 में मेरे बहनोई जयपुर से पिंकसिटी एक्सप्रेस ट्रेन से रवाना हुए थे। गुडग़ांव पहुंचे तो ट्रेन में 21 सिख यात्रियों को मारा डाला गया। कत्लेआम में हजारों सिखों की हत्या कर दी गई, लोगों को जिंदा जलाया गया। दस हजार से ज्यादा लोगों का दिल्ली में कत्लेआम हुआ। अब 34 साल लंबे इंतजार के बाद पीडि़तों को न्याय मिला है। अन्य दोषियों पर भी कोर्ट सख्ती दिखाए। एक अन्य चश्मदीद ने कहा कि घटना के वक्त लाशों के ढेर देखकर हर कोई सहम गया था।


मुआवजे की उठी मांग

समाज के प्रतिनिधियों ने मांग की कि कत्लेआम के मामले में जगदीश टाइटलर और कमलनाथ को भी शीघ्र सजा दी जाए ताकि पीडि़तों को न्याय मिल सके। सरकार पीडि़त परिवारों को मुआवजा दे, उनका पुनर्वास कराए ताकि वे ठीक से जीवन यापन कर सकें।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned