राजस्थान: Night Curfew को लेकर अब सामने आ रही ये नई बात, हर ओर होने लगी चर्चा

Night Curfew In Rajasthan : कोरोना के लगातार कम होते मामले, नाइट कर्फ्यू हटाने की पुरजोर उठ रही मांग, पूर्व मंत्री ने भी की पैरवी, सीएम गहलोत को लिखा पत्र, व्यापार और व्यापारियों को राहत देने की दलील, जयपुर समेत 13 शहरों में लागू है नाइट कर्फ्यू, नाइट कर्फ्यू ख़त्म करने की उठने लगी ‘डिमांड’, नेता-आमजन बोले- ‘अब कोई औचित्य नहीं'

By: nakul

Published: 18 Jan 2021, 12:28 PM IST

जयपुर।

कोरोना महामारी के लगातार घटते पैमाने के बीच भले ही राज्य सरकार किसी तरह की ढिलाई बरतने के मूड में नहीं दिख रही हो, लेकिन नेताओं और आमजन के बीच से नाइट कर्फ्यू ( Night Curfew In Rajasthan ) को ख़त्म करने या इसकी मियाद में ढील देने को लेकर आवाज़ उठने लगी है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के ज़रिये भी लोग अपनी भावनाओं को राज्य सरकार तक पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं।


कोरोना मामले कम होने की दलील
नाइट कर्फ्यू की पाबंदी हटाये जाने की मांग करने वाले नेताओं और लोगों की इसके पीछे कई तरह की दलीलें हैं। कुछ का कहना है कि राजधानी जयपुर सहित प्रदेश के अन्य जिलों में कोरोना के मामलों में तेज़ी से गिरावट देखी गई है। तो वहीं कुछ का कहना है कि कोरोनाकाल में प्रभावित हुए व्यापार और व्यापारी वर्ग को राहत देने की दिशा में सरकार को नाइट कर्फ्यू हटाने पर विचार करना चाहिए।


पूर्व मंत्री सराफ ने भी की अपील
पूर्व मंत्री व भाजपा विधायक कालीचरण सराफ ने भी राजधानी जयपुर से रात्रि कर्फ्यू हटाने या इसकी मियाद में ढील देने की पैरवी की है। सराफ ने इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर अपील तक की है। पत्र में विधायक ने कोविड मरीजों की संख्या में लगातार गिरावट और संक्रमण की वर्तमान स्थिति का हवाला दिया है।

सराफ ने पत्र में व्यापारियों और बाज़ार की मौजूदा स्थितियों का हवाला दिया। उन्होंने कहा है कि कोरोना महामारी के कारण व्यापारी वर्ग पहले ही भयंकर वित्तीय संकट से गुजर रहा है। उस पर अनावश्यक रूप से रात्रि कर्फ्यू जारी रखने की सरकार की जिद के कारण सारा काम धंधा चौपट हो गया है।

उन्होंने कहा कि पिछले दस महीनों में से लगभग छह माह लॉकडाउन के कारण व्यापार ठप रहा और लॉक डाउन हटने के बाद व्यापार सामान्य रूप से गति भी नहीं पकड़ पाया था कि रात्रि कर्फ्यू लगा दिया गया इससे व्यापारियों के सामने और अधिक आर्थिक संकट खड़ा हो गया है।


अगले आदेश तक बढ़ाया गया है नाइट कर्फ्यू
राजधानी जयपुर समेत 13 शहरों में नाइट कर्फ्यू सरकार के अगले आदेशों तक जारी है। इससे साफ़ अंदाजा लगाया जा सकता है कि कोरोना मामले कम होने के बाद भी सरकार इस बीमारी को लेकर गंभीर है और किसी भी तरह का जोखिम नहीं उठाना चाहती है।

इससे पहले राज्‍य सरकार ने 15 जनवरी तक नाइट कर्फ्यू सहित कोरोना से बचाव की अन्य गाइडलाइंस जारी की थीं। अब सरकार ने अगले आदेश तक इसे जारी रखने का फैसला लिया है।


इन शहरों में है नाइट कर्फ्यू
सरकारी आदेश के अनुसार राजधानी जयपुर सहित 13 शहरों में रात 8 बजे से लेकर सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू जारी है। इन शहरों में जयपुर, कोटा, जोधपुर, बीकानेर, उदयपुर, अजमेर, अलवर, भीलवाड़ा, नौगार, पाली, टोंक, सीकर और गंगानगर जिले के शहरी इलाके शामिल हैं।


आमजन का ये है कहना...

‘’ अब तो vaccination की शुरुआत हो चुकी है,तो मुंह पर मास्क अलोएड करके नाइट कर्फ्यू को हटा सकते है’’ – अवधेश कुमार मीणा

‘’मुख्यमंत्री को अब राजस्थान में लगाया गया नाइट कर्फ़्यू अब हटा लेना चाहिए इससे लोगों को काफ़ी परेशानी हो रही है’’ – जैराम यादव

‘’जयपुर में कोरोना की रफ्तार पर ब्रेक लग गया है, अब महज 44 नए पॉजिटिव आये हैं, क्या अब भी नाइट कर्फ्यू की जरूरत है?’’ – भवानी सिंह

‘’जब स्कूल और कोचिंग खुल गए तो नाइट कर्फ्यू का कोई मतलब नहीं है’’ – भूपेन्द्र गोचर

Show More
nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned