निकाय चुनाव: कांग्रेस-BJP-RLP के मुखियाओं की प्रतिष्ठा दांव पर, जानें मतदान से पहले तीनों नेताओं ने क्या कहा?

20 जिलों की 90 नगर निकायों का चुनावी रण, ईवीएम में आज कैद हो जाएगा राजनीतिक दलों का ‘भविष्य’, चुनाव नतीजों से जुड़ा हुआ है ‘मुखियाओं’ का भविष्य, सोशल मीडिया के ज़रिये मतदान पूर्व की आखिरी वोट अपील

By: nakul

Published: 28 Jan 2021, 11:47 AM IST

जयपुर।

निकाय चुनाव में हर बार की तरह इस बार भी राजनीतिक दलों के मुखियाओं की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है। यही वजह है कि चुनाव जीतने के लिए रणनीति बनाने से लेकर प्रचार अभियानों में खुद फील्ड पर उतरने तक में पार्टियों के शीर्ष नेता ज़बरदस्त रूप से सक्रीय दिखाई दिए हैं। अब चुनाव नतीजे बताएंगे कि आखिर किस नेता की चुनावी रणनीति और मैनेजमेंट खरे साबित हुए हैं।


शीर्ष नेताओं की आखिरी वोट अपील
निकायों में मतदान पूर्व राजनीतिक दलों के शीर्ष नेताओं की आखिरी वोट अपील सोशल मीडिया पर छाई रही। सभी नेताओं ने मतदाताओं से निकाय स्तर पर विकास की गति को आगे बढाने का वादा करते हुए अपनी-अपनी पार्टियों के पक्ष में वोट देने की अपील की।


कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया और रालोपा संयोजक सांसद हनुमान बेनीवाल ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के ज़रिये पार्टी प्रत्याशियों के पक्ष में वोट करने की अपील की।

फील्ड में सक्रीय दिखे पार्टी ‘चीफ’
निकाय चुनाव में प्रतिद्वंदी दल से बढ़त बनाने की मंशा से राजनीतिक दलों के प्रदेश अध्यक्ष ‘सर्वेसर्वा’ की भूमिका में रहे। इन शीर्ष नेताओं ने पार्टी मुख्यालय के साथ ही निकाय क्षेत्रों में दौरे कर प्रचार अभियान को गति दी।


डोटासरा कम, पूनिया-बेनीवाल दिखे ज़्यादा एक्टिव
सरकार में शिक्षा मंत्री और कांग्रेस संगठन में प्रदेश अध्यक्ष की दोहरी ज़िम्मेदारी संभालने के चलते गोविन्द सिंह डोटासरा की मौजूदगी ज़्यादातर जयपुर या अपने विधानसभा क्षेत्र सीकर के लक्ष्मणगढ़ में ज़्यादा नज़र आई। जबकि चुनाव पूर्व हुए प्रचार अभियान में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया और रालोपा के राष्ट्रीय संयोजक सांसद हनुमान बेनीवाल ने अपनी-अपनी पार्टियों के पक्ष में माहौल बनाने के लिए मोर्चा संभाले रखा।

Show More
nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned