scriptNirjala Ekadashi 2024: जल से भरे घड़े लेकर गोविंद के दरबार में पहुंचे भक्त, शीतल पेय पिलाकर पुण्य कमाने की मची होड़, देखें तस्वीरें | Patrika News
जयपुर

Nirjala Ekadashi 2024: जल से भरे घड़े लेकर गोविंद के दरबार में पहुंचे भक्त, शीतल पेय पिलाकर पुण्य कमाने की मची होड़, देखें तस्वीरें

भीषण गर्मी में भक्त निर्जल व्रत रखकर भगवान विष्णु की आराधना कर रहे हैं। सुबह से ही मंदिरों में भक्तों की भीड़ उमड़ रही है।

जयपुरJun 18, 2024 / 03:31 pm

SAVITA VYAS

1/6
राजधानी जयपुर में त्रिपुष्कर, रवि और शिव योग तथा स्वाति नक्षत्र सहित अन्य योग-संयोगों में आज वर्ष की प्रमुख एकादशियों में से एक निर्जला एकादशी मनाई जा रही है।
2/6
गोविंद देव जी सहित अन्य प्रमुख वैष्णव मंदिरों में जलविहार की झांकी सजाई जा रही है। मंदिरों में जल, घड़े, अन्न, कपड़े, आसन, जूता, छाता, पंखा और फलों सहित अन्य वस्तुओं का दान का सिलसिला जारी है।
3/6
भीषण गर्मी में भक्त निर्जल व्रत रखकर भगवान विष्णु की आराधना कर रहे हैं। सुबह से ही मंदिरों में भक्तों की भीड़ उमड़ रही है।
4/6
शहरभर में लोगों को शीतल पेयजल व शरबत पिलाकर धर्मात्मा पुण्य कमाने में जुटे हैं। शहरभर में जगह—जगह लोगों को शीतल पेय पिलाकर पुण्य कमाने की होड़ मची है।
5/6
ज्योतिषाचार्य पं. पुरुषोत्तम गौड़ ने बताया कि निर्जला एकादशी पर जल से भरे कलश और तिल का दान करने से अश्वमेध यज्ञ करने जितना पुण्य मिलता है। मान्यता है कि इस दिन श्रद्धापूर्वक व्रत करने से सभी तरह के पापों से मुक्ति मिलती है।
6/6
निर्जला एकादशी का व्रत करने से साल भर की एकादशी के व्रत करने के समान पुण्य मिलता है। महाभारतकाल में वेद व्यास का आदेश मानते हुए भीम ने भी निर्जला एकादशी का व्रत किया था।

Hindi News / Photo Gallery / Jaipur / Nirjala Ekadashi 2024: जल से भरे घड़े लेकर गोविंद के दरबार में पहुंचे भक्त, शीतल पेय पिलाकर पुण्य कमाने की मची होड़, देखें तस्वीरें

Copyright © 2024 Patrika Group. All Rights Reserved.