दुर्गापुरा रेलवे स्टेशन के लिए नहीं सार्वजनिक परिवहन की सुविधा, सुरक्षा व्यवस्था में भी खामी

दुर्गापुरा रेलवे स्टेशन तक पहुंचने के लिए सार्वजनिक परिवहन की व्यवस्था नहीं है, यात्रियों को डेढ़-दो किलोमीटर पैदल चलना पड़ता है। सुरक्षा में भी खामी नजर आती है, टूटी दीवार से आते जाते हैं लोग

जयपुर.शहर के दुर्गापुरा रेलवे स्टेशन को स्वच्छता के मामला में भले ही तीसरा स्थान मिला हो लेकिन जरूरी सुविधाओं से यह स्टेशन अभी भी वंचित हैं। स्टेशन तक पहुंचने के लिए सार्वजनिक परिवहन की व्यवस्था नहीं है, यात्रियों को डेढ़—दो किलोमीटर पैदल चलना पड़ता है। वहीं सुरक्षा व्यवस्था में भी खामी नजर आती है। यहां यात्री बिना चैकिंग के ही स्टेशन में अंदर चले जाते हैं।

बस स्टॉप पड़ता है दूर

दरअसल महावीर नगर स्थित दुर्गापुरा रेलवे स्टेशन के लिए कोई बस संचालित नहीं होती। यहां तक पहुंचने के लिए सिर्फ 9ए रूट की बस ही चलती है, जो स्टेशन से काफी दूरी से संचालित होती है। बस के दुर्गापुरा स्थित बस स्टैंड के पास

सुरक्षा व्यवस्था पर भी सवाल

यहां यात्रियों की सुरक्षा व्यवस्था के भी हाल बेहाल हैं। गेट नं. एक पर यात्रियों और उनके सामान की चैकिंग के लिए मशीन लगा रखी है। लेकिन ये मशीनें सिर्फ दिखावे की हैं। इनका कोई उपयोग नहीं है, यात्री मशीन के साइड में स्थित दूसरे गेट से निकलते हैं। वहीं दूसरे गेट पर कोई मशीन नहीं लगी है। लोग टूटी दीवार से कूद कर बाहर जाते हैं। इतना हीं नहीं स्टेशन पर यात्रियों का टिकट भी चैक नहीं किया जाता।

लोगों का यह कहना

स्टेशन के पास से कोई बस नहीं जाती, 9ए बस का स्टैंड भी यहां से बहुत दूर है, जिसके लिए पैदल जाना पड़ता है। फिर महेश नगर स्थित घर जाने के लिए दूसरी बस बदलनी पड़ती है।राज मीणा, स्टूडेंट

सराकर को स्टेशन के पास से बस चलानी चाहिए। पब्लिक ट्रांसपोर्ट नहीं होने की वजह से ऑटो से जाना पड़ता है। ऑटो चालक मीटर से नहीं चलते, बल्कि मनमाना किराया वसूलते हैं। विजयलक्ष्मी, गृहणी

सरकार को दुर्गापुरा स्टेशन पर यात्रियों की सुविधा में बढ़ोतरी करनी चाहिए। यहां सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम होने चाहिएं। साथ ही इस रूट पर सिटी बस चलानी चाहिए।
दुर्गेश दाधीच, निवासी मानसरोवर

Deepshikha Vashista Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned