राजस्व वसूलना ही नहीं, वाहन चालकों की सुरक्षा भी हमारी जिम्मेदारी- परिवहन मंत्री

राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह-2021 का समापन समारोह

By: Lalit Tiwari

Published: 17 Feb 2021, 09:20 PM IST

परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि राज्य सरकार व परिवहन विभाग का मकसद वाहन संचालकों से राजस्व वसूली करना ही नहीं है, बल्कि उनकी सुरक्षा करना भी है। प्रदेश के दुर्घटना स्थलों (ब्लैक स्पॉट) को ठीक करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए है। उन्होंने आमजन से अपील करते हुए कहा कि सड़क पर घायलों की मदद को आगे आए, ताकि हर एक जीवन सुरक्षित रह सके। खाचरियावास बुधवार को जेएलएन मार्ग स्थित ओटीएस के भगवत सिंह मेहता सभागार में राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह-2021के समापन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। समारोह में उन्होंने सड़क सुरक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाली संस्थाओं, व्यक्तियों को सम्मानित भी किया।इस दौरान परिवहन मंत्री ने कहा कि राज्य सड़क सुरक्षा परिषद के फंड से सड़क सुरक्षा के लिए कैमरे लगायेंगे। यातायात पुलिसकर्मियों से कहा कि सड़क पर नियम तोड़ने वालों के खिलाफ कार्यवाही करने से पहले समझाइश करें। साथ ही
उन्होंने कहा कि कोविड-19 वायरस जरूर कमजोर पड़ा है, लेकिन अभी भी अलर्ट रहना होगा।

एम परिवहन और वाहन पोर्टल पर अपलोड दस्तावेज वैद्य-
परिवहन मंत्री ने कहा कि सबसे ज्यादा दुर्घटनाएं हाईवे पर होती है। टोल कंपनियां टोल फीस तो पूरी वसूल करती है, लेकिन हाईवे को सुगम बनाने में लापरवाही बरतती है। इसके लिए केंद्र सरकार सख्ती बरतते हुए एनएचएआई की जिम्मेदारी तय कर सुधार कराए। यातायात पुलिसकर्मी मोबाइल एप ’एम-परिवहन’ और ’वाहन पोर्टल’ पर अपलोड दस्तावेजों को भी वैध मानें।

वाहन फिटनेस के समय होगी आंखों की जांच
खाचरियावास ने कहा कि ट्रोले संचालित करने वाली बड़ी कंपनियों के साथ बैठक करेंगे। उनके ट्रोले चालकों को सड़क सुरक्षा के नियमों का प्रशिक्षण देंगे। साथ ही अब कॉमर्शियल वाहनों के फिटनेस के दौरान वाहन चालकों की आंखों की जांच भी कराएंगे। उन्होंने कहा कि लोगों की जान से बड़ा पैसा नहीं है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में सड़क सुरक्षा
परिषद की बैठक में बीआरटीएस को हटाने की निर्णय लिया गया है। इससे भी यातायात में सुगमता आएगी।

बसों में पैनिक बटन जल्द लगेंगे
परिवहन मंत्री ने कहा कि महिला यात्रियों की सुरक्षा दुष्टि से प्रदेश की बसों में जल्द ही पैनिक बटन लगाएंगे। रोडवेज और निजी बस चालकों की जिम्मेदारी होनी चाहिए कि रास्ते में कही भी एकल महिला बस इंतजार में दिखे तो उसे जरूर बिठाए। चाहे उस जगह बस स्टैंड नहीं भी हो।

समारोह में प्रमुख शासन सचिव अभय कुमार, डीसीपी यातायात आदर्श सिद्धू, अपर परिवहन आयुक्त (प्रशासन) महेंद्र खींची, अपर परिवहन आयुक्त (सड़क सुरक्षा) हरीश कुमार शर्मा सहित कई अधिकारी मौजूद थे।

COVID-19
Show More
Lalit Tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned