scriptNot only women, every 10th man is also a victim of marital violence | NFHS 5 Survey : औरतें ही नहीं हर 10वां पुरुष भी वैवाहिक हिंसा का शिकार, पत्नी ज्यादा पढ़ी तो हिंसा की आशंका ज्यादा | Patrika News

NFHS 5 Survey : औरतें ही नहीं हर 10वां पुरुष भी वैवाहिक हिंसा का शिकार, पत्नी ज्यादा पढ़ी तो हिंसा की आशंका ज्यादा

एनएफएचएस के ताजा सर्वे के अनुसार भारत में 18-49 उम्र वर्ग की बत्तीस प्रतिशत विवाहित महिलाएं पति द्वारा हिंसा की शिकार हुई हैं। इस वैवाहिक हिंसा का सबसे आम प्रकार है शारीरिक हिंसा। 18-49 वर्ष की आयु की छह प्रतिशत विवाहित महिलाओं ने वैवाहिक यौन हिंसा का अनुभव भी किया है। लेकिन गौर करने की बात है ये है कि भारत में वैवाहिक हिंसा की शिकार सिर्फ पत्नियां ही नहीं हैं, 10 प्रतिशत पति भी हिंसा के शिकार हो रहे हैं। एनएफएचएस सर्वे से ये खुलासा हुआ है।

जयपुर

Updated: May 13, 2022 06:22:01 pm

नई दिल्ली। देश में सिर्फ महिलाएं ही वैवाहिक हिंसा का शिकार नहीं होती हैं, पुरुष भी पीड़ित हैं। नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे-5 के आंकड़ों पर गौर करें तो देश में हर दसवां पुरुष पत्नी से पिट रहा है। हालांकि, इसमें 4 फीसदी ऐसे हैं, जिन्होंने अपनी पत्नी के साथ कभी कोई मारपीट नहीं की थी। फिर भी वे शिकार बने हैं। आंकड़ों में शारीरिक हिंसा शामिल है, भावनात्मक हिंसा नहीं।
wife_beat_husband.jpg
बढ़ गई पतियों के साथ मारपीट

पतियों के साथ मारपीट में इजाफा हुआ है। नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे 2015-16 की रिपोर्ट देखें तो यह मामले 9.6 फीसदी थे, जो अब बढ़कर 10 फीसदी हो गए हैं। हालांकि इनमें से कितने पुरुष कानूनी मदद के लिए आगे आए, इसके कोई आंकड़ें नहीं हैं। सर्वे में पुरुषों से मारपीट के आंकड़े भी महिलाओं से ही जुटाए गए हैं।
शहरों में बढ़े हैं मामले

पुरुषों के साथ वैवाहिक हिंसा के मामले शहरी क्षेत्रों की तुलना में ग्रामीण क्षेत्रों में ज्यादा हैं। हालांकि, गांवों में ये मामले 5 सालों में घटे नहीं तो बढ़े भी नहीं हैं। 2015-16 में ये 3.7 फीसदी थे, जो अब भी वही हैं। शहरों में यह 3.1 से बढ़कर 3.3 फीसदी पर पहुंच गए हैं।
पत्नी ज्यादा पढ़ी-लिखी है तो यह मामले बढ़ने की आशंका

पति और पत्नी की शिक्षा समान है तो वैवाहिक हिंसा के मामले कम होते हैं। अगर पत्नी ज्यादा पढ़ी-लिखी है तो यह मामले बढ़ने की आशंका रहती है। रिपोर्ट कहती है कि समान शिक्षा में पतियों के साथ हिंसा का आंकड़ा महज 2.8 फीसदी है। ज्यादा पढ़ी-लिखी पत्नी के मामले में यह 3.7 हो जाता है और अगर पति ज्यादा पढ़ा हुआ है तो 3.1 फीसदी। अगर दोनों ही अनपढ़ हैं तो यह आंकड़ा काफी बढ़ जाता है और 5.6 फीसदी पुरुष हिंसा का सामना करते हैं। यही हाल आर्थिक स्थिति में है। कमजोर आर्थिक वर्ग के 4.4 फीसदी पुरुष इसके शिकार हैं। वहीं अच्छी आर्थिक स्थिति होने पर यह घटकर 2.1 फीसदी रह जाता है।

उम्र के साथ बढ़ते हैं ऐसी हिंसा के मामले

18-19 की उम्र में मारपीट के मामले 0.8 फीसदी हैं, जबकि 30-39 की उम्र में तीन गुना बढ़कर 3.9 फीसदी हो गए हैं। महिलाओं के साथ होने वाली घरेलू हिंसा में भी यही चलन देखने में आया है कि बढ़ती उम्र में उनके साथ हिंसा के मामले भी बढ़े हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

पाकिस्तान में गृहयुद्ध जैसे हालात, लाखों समर्थकों संग डी-चौक पहुंचे इमरान खान, लोगों ने फूंका मेट्रो स्टेशन, राजधानी में सड़कों पर सेनाउद्धव के एक और मंत्री पर ED का शिकंजा, महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री अनिल परब के घर प्रवर्तन निदेशालय का छापाKashmir On Alert: जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में लश्कर के 3 आतंकी ढेर, सभी सशस्त्र बलों की छुट्टियाँ रद्दBy election in Five States: पांच राज्यों की तीन लोकसभा और सात विधानसभा सीटों पर उपचुनाव का ऐलान, इस दिन होगी वोटिंगUP Budget 2022 Live : वित्त मंत्री पेश कर रहे बजट, बताया यूपी में निवेश बढ़ाआज से लागू हुआ नया टैक्स रूल, 20 लाख से अधिक के लेन-देन के लिए पैन या आधार जरूरी, जानिए क्या है नियम21 साल की बंगाली एक्ट्रेस Bidisha De Majumdar ने किया सुसाइडदिल्ली के नए उपराज्यपाल विनय सक्सेना आज संभालेंगे पद, सामने होंगी बड़ी चुनौतियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.