scriptnothing is more important than healthy lungs | world copd day: स्वस्थ फेफड़ों से महत्वपूर्ण कुछ नहीं | Patrika News

world copd day: स्वस्थ फेफड़ों से महत्वपूर्ण कुछ नहीं

world copd day:

आज है वर्ल्ड सीओपीडी डे
फेफड़ों संबंधित बीमारियों से किया जाता है जागरूक

जयपुर

Published: November 17, 2021 05:08:02 pm

world copd day:

आज है वर्ल्ड सीओपीडी डे यानी क्रॉनिक ऑब्सट्रेक्टिव पल्मोनरी डिजीज डे हैं। इस साल की थीम है ‘स्वस्थ फेफड़े - इससे अधिक कुछ महत्वपूर्ण नहीं‘ है। हर साल यह दिन पल्मोनरी डिजीज के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए मनाया जाता है। अब जबकि कोरोना महामारी से पूरी दुनिया जूझ रही है, ऐसे में फेफड़ों की बीमारियों से दूरी बनाए रखने के लिए जागरूक होना ज्यादा जरूरी हो जाता है। इस बारे में डॉ. अजीत सिंह का कहना है कि यह अब लोगों को समझ आने लगा है कि फेफड़ों का संक्रमण जानलेवा होता है। इससे पहले कि फेफड़े आपकी जान लें, इनकी देखभाल जरूरी है। क्योंकि एक शोध के मुताबिक भारत में सीओपीडी से हर दिन करीब 2300 मौतें होती हैं। सीओपीडी से मौतों में भारत दुनिया में दूसरे नंबर पर है। इनमें बड़ा कारण धुम्रपान करने को माना जाता है, वहीं अब प्रदूषण भी इसका बड़ा कारण बन गया है।
nothing is more important than healthy lungs
nothing is more important than healthy lungs
सर्वाधिक मौतें
सीओपीडी के कारण होने वाली मौतों की संख्या एड्स, टीबी, मलेरिया और मधुमेह से होने वाली कुल मौतों से भी अधिक है। सीओपीडी की जांच में विलंब और अपर्याप्त उपचार के कारण स्थिति खराब होती जा रही है और रोगी को लंग अटैक हो रहा है। डॉक्टर्स का कहना है कि लगातार बढ़ता प्रदूषण और सिगरेट का बढ़ता चलन सीओपीडी के मरीजों की संख्या को बढ़ा रहा है। भारत में हर साल करीब 9 लाख लोगों की मौत सीओपीडी से हो जाती है। यदि राजस्थान की बात करें तो प्रति एक लाख लोगों में से 111 लोगों की सीओपीडी से मौत हो रही है।
यह हैं लक्षण
ऑक्सीजन का स्तर सामान्य से कम होना, डॉक्टर की ओर से शारीरिक जांच के परिणाम, सांस लेने में कष्ट होना और तेजी से उथली सांस लेना सीओपीडी के लक्षण हैं। इस कारण लंग अटैक आने का खतरा बढ़ जाता है। लंग अटैक के संकेतों और लक्षणों को पहचानना और डॉक्टर से सही समय पर मदद लेना इस रोग को बढऩे से रोकने का सही तरीका है। लंग अटैक में तुरंत चिकित्सकीय सहायता चाहिए होती है और यदि उपचार न हो तो मृत्यु भी हो सकती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.