अब पूरे देश में चुनाव लड़ेगी आप, स्थानीय निकायों से होगी शुरुआत

विकल्प बनने की तैयारी: सकारात्मक राष्ट्रवाद को मुद्दा बनाने की घोषणा

नई दिल्ली. दिल्ली में दूसरी बार ऐतिहासिक जीत के बाद अब आम आदमी पार्टी देश भर में चुनाव लडऩे के लिए कमर कस चुकी है। पार्टी नेता गोपाल राय ने कहा है कि इसकी शुरुआत पार्टी विभिन्न राज्यों के स्थानीय चुनावों से करेगी।
इस संबंध में रणनीति बनाने के लिए रविवार को पार्टी ने सभी राज्यों के नेताओं की बैठक भी बुलाई है। पार्टी नेता गोपाल राय ने शुक्रवार को कहा, 'आम आदमी पार्टी अब राष्ट्रव्यापी अभियान चलाएगी इसका मकसद भाजपा के नकारात्मक राष्ट्रवाद के मुकाबले सकारात्मक राष्ट्रवाद को खड़ा करना है।' उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी अब देशभर में स्थानीय निकायों के चुनाव लड़ेगी ताकि इसका प्रसार किया जा सके। केजरीवाल ने रविवार को अपने शपथ ग्रहण समारोह में भी विपक्षी दलों के नेताओं को न्योता नहीं दिया है। पार्टी का कहना है कि यह मौका दिल्ली के लोगों के साथ मनाने का है। इसलिए इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के सांसदों को न्योता दिया गया है। दरअसल केजरीवाल राष्ट्रीय स्तर पर खुद को भाजपा के मुकाबले खड़ा करना चाहते हैं। ऐसे में दूसरे मोदी विरोधी नेताओं के साथ मंच साझा कर वे अपनी दावेदारी को कमजोर नहीं करना चाहते।
शपथ दिल्ली की, बात भारत की : अरविंद केजरीवाल और उनकी पार्टी दिल्ली के चुनाव नतीजे आने के बाद से लगातार दिल्ली की बजाय देश की बात करने लगे हैं। केजरीवाल ने रविवार के अपने शपथ ग्रहण समारोह में न्यौते के लिए एक काव्यात्मक संदेश तैयार किया है। इसमें वे पांच बार भारत की बात करते हैं, जबकि दिल्ली शब्द महज एक बार आता है।
सभी विपक्षी नेता बुला चुके हैं केजरीवाल को : उल्लेखनीय है कि अरविंद केजरीवाल को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, झारखंड के मुख्यमंत्री हेमेंत सोरेन, कर्नाटक में मई 2018 में तत्कालीन सीएम सिद्धरमैया ने अपने-अपने शपथग्रहण समारोह में बुलाया था, लेकिन केजरीवाल ने किसी को निमंत्रण नहीं भेजा है।
राष्ट्रपति ने नियुक्त किया मुख्यमंत्री
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शुक्रवार को आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल को दिल्ली का मुख्यमंत्री नियुक्त कर दिया। आधिकारिक गजट में दिल्ली सरकार में मंत्रिमंडल छह अन्य मंत्रियों को भी शपथ दिलाने की भी जिक्र है। शपथ लेने वालों में मनीष सिसोदिया, सत्येंद्र जैन, गोपाल राय, कैलाश गहलोत, इमरान हुसैन और राजेंद्र गौतम शामिल हैं। दिल्ली में इससे ज्यादा मंत्री नहीं हो सकते।
पीएम को न्योता
अरविंद केजरीवाल ने 16 फरवरी को रामलीला मैदान में अपने शपथग्रहण समारोह के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रित किया है। हालांकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 16 फरवरी को वाराणसी दौरे पर जाना है। ऐसे में माना जा रहा कि वे शपथग्रहण पहुंचना मुश्किल है।
भाजपा के सभी सांसद, विधायकों को बुलाया
आम आदमी पार्टी ने भाजपा के सभी विधायकों, नगर निगम के पार्षदों और सभी प्रमुख पार्टी पदाधिकारियों को भी शपथग्रहण समारोह में बुलाया है।
रविवार को खास बैठक
गोपाल राय ने यह भी बताया कि पार्टी में रविवार को इस संबंध में विचार करने के लिए एक विशेष बैठक बुलाई है। इसमें पार्टी के सभी राज्यों के नेताओं को बुलाया गया है।

AAP Arvind Kejriwal
Vijayendra Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned