अब आईस्कैनर व मोबाइल ओटीपी से भी मिल सकेगा राशन

राज्य में खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत पात्र लाभार्थियों को खाद्यान्न उपलब्ध कराने के लिए अब पोस मशीन के साथ आई स्कैनर व मोबाइल ओटीपी की सुविधा भी मुहैया कराई जाएगी।

By: Kamlesh Sharma

Published: 19 Jan 2019, 07:27 PM IST

जयपुर। राज्य में खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत पात्र लाभार्थियों को खाद्यान्न उपलब्ध कराने के लिए अब पोस मशीन के साथ आई स्कैनर व मोबाइल ओटीपी की सुविधा भी मुहैया कराई जाएगी। ऐसे वृद्धजन या श्रमिक किसी वजह से अंगूठे के माध्यम से बायोमैट्रिक प्रमाणीकरण नहीं होने पर राशन नहीं ले पा रहे, उन्हें आईस्केनर या मोबाइल ओटीपी से राशन प्राप्त करने की सुविधा दी जाएगी।

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री रमेशचन्द मीणा ने कहा कि लाभार्थी उचित मूल्य दुकान से बायोमैट्रिक प्रमाणीकरण से राशन प्राप्त कर रहे हैं, लेकिन कई बार अंगूठे के माध्यम से प्रमाणीकरण नहीं हो पाता। उनके लिए आईस्केनर उपलब्ध कराए जा रहे हैं। जहां लाभार्थी आई स्केनर के माध्यम से भी अपना ऑथेंटिफिकेशन करवा सकेंगे।

किसी लाभार्थी का अंगूठे या आंखों की पुतलियों का बायोमैट्रिक ऑथेंटिकेशन नहीं हो पाता है तो उचित मूल्य की दुकान का संचालक पात्र लाभार्थी को खाद्यान्न देने से फिर भी मना नहीं कर सकेगा। ऐसे प्रकरणों में लाभार्थी के पंजीकृत मोबाइल पर ओटीपी जनरेट कर उसे खाद्यान्न उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है।

विभाग की सचिव मुग्धा सिन्हा ने बताया कि लाभार्थी के पास मोबाइल नम्बर नहीं है, तो क्षेत्र के जिला रसद अधिकारी, उपखण्ड अधिकारी, ब्लॉक विकास अधिकारी, अधिशाषी अधिकारी एवं प्रवर्तन निरीक्षक के द्वारा लाभार्थी की पहचान कर खाद्यान्न दिया जा सकेगा।

Kamlesh Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned