अब विधायक सोलंकी ने दोहराई पायलट की सियासी मांग

पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के मंत्रीमंडल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियों समेत सुलह कमेटी की बातों पर अब ओर देरी नहीं करने के सामने आए बयान के बाद अब पायलट खेमे के विधायक मुखर होकर यह मांग उठाने लगे हैं।

By: Ashish

Published: 15 Apr 2021, 08:18 PM IST

जयपुर

पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के मंत्रीमंडल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियों समेत सुलह कमेटी की बातों पर अब ओर देरी नहीं करने के सामने आए बयान के बाद अब पायलट खेमे के विधायक मुखर होकर यह मांग उठाने लगे हैं। चाकसू विधायक वेद सोलंकी ने गुरूवार को मीडिया से बातचीत में कहा है कि किसी विधायक का नाम गुट विशेष से जोड़कर सच्चाई छिपाने का प्रयास नहीं होना चाहिए और जल्द राजनीतिक नियुक्तियां और मंत्रिमंडल विस्तार होना चाहिए। भले किसी भी गुट के विधायक या कार्यकर्ताओं की नियुक्तियां हों लेकिन यह काम जल्दी किया जाना जरुरी है। जिन कार्यकर्ताओं के पीछे सरकार बनी थी उनका और विधायकों का वक्त जाया हो रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार का ढाई साल निकल गया है और अब कार्यकर्ताओं ने उम्मीद ही छोड़ दी है कि हमें कुछ मिलेगा। सोलंकी ने मुख्यमंत्री के साथ ही पार्टी आलाकमान से भी यह कार्य शीघ्र पूरा किए जाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि नियुक्तियां होने से कार्यकर्ताओं का मनोबल बढेगा।

कामकाज में आ रही हैं दिक्कतें
विधायक वेद सोलंकी ने कहा कि प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियां नहीं होने से लोगों को कार्य करवाने में दिक्कतें आ रही हैं। अब आम कार्यकर्ता भी कह रहा है कि जल्द से जल्द राजनीतिक नियुक्तियां होनी चाहिए, मंत्रीमंडल विस्तार होना चाहिए। अभी कई महकमों के मंत्री ही नहीं होने से लोगों के काम नहीं हो पा रहे।

एसटी-एसटी को मिलें मजबूत विभाग
मीडिया से बातचीत में विधायक वेद सोलंकी ने यह मांग भी उठाई कि एससी-एसटी विधायकों को अच्छे महकमे मिलने चाहिए। इस वर्ग से आने वाले विधायकों को महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि एससी-एसटी और अल्पसंख्यकों के वोटों से सरकार बनी है और केवल नाम मात्र के महकमे दिए जाने से समाज और जनता में मैसेज नहीं जाता है। सोलंकी ने कहा कि अभी मुख्यधारा के सभी डिपार्टमेंट दूसरे लोगों के पास हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned