अब पेंशन लेने के लिए नहीं लगाने होंगे चक्कर


डाक विभाग घर बैठे पहुंचा रहा पेंशन
बायो मेट्रिक तरीके से पेंशन का भुगतान
80 लाख सामाजिक पेंशनर्स को होगा फायदा
अब तक 10 लाख पेंशनर्स को मिला फायदा

By: Rakhi Hajela

Published: 28 Aug 2020, 11:41 AM IST


प्रदेश के तकरीबन 80 लाख सामाजिक पेंशनधारियों के लिए अच्छी खबर है। अब उन्हें खाते खुलवाने और पेंशन निकालने के लिए बैंकों के चक्कर नहीं लगाने होंगे। डाक विभाग ऐसे पेंशनधारियों के घर बैठे खाते खोल रहा है। इतना नहीं उन्हें घर बैठे पेंशन की रकम भी पहुंचा रहा है। केंद्र और राज्य सरकार की ओर से सामाजिक पेंशन के रूप में विधवा, विकलांग, वृद्धावस्था, महिला सहित अन्य रूप से लोगों को दी जाने वाली पेंशन के खाते खोलने के लिए केंद्र सरकार में डाक विभाग को जिम्मेदारी सौंपी है। जानकारी के मुताबिक अब तक प्रदेश में 10 लाख खाते खाले जा चुके हैं।

खाते खोलने के बाद घर बैठे पहुंचेगी पेंशन

डाक विभाग के कर्मचारी पेंशन धारियों के खाते घर बैठे खोल रहा है। इसके बाद जब भी इनकी पेंशन आएगी, घर बैठे ही पेंशन राशि पहुंचाई जाएगी। उसके लिए इनकी मोबाइल नंबर एवं आधार कार्ड से खाते को जोड़ा जा रहा है। डाक विभाग द्वारा घर बैठे खाते खोलने एवं पेंशन की रकम पहुंचाने से पेंशन धारियों को बैंकों की चक्कर नहीं लगाने होंगे। अभी से पहले ऐसे खाते बैंकों में खोले जाते थे और पेंशन लेने के लिए बैंकों में जाना पड़ता था। बैंकों में भीड़ अधिक होने से पेंशनधारियों को परेशानी होती थी। कई बार तो कई दिनों तक चक्कर लगाने पड़ते थे, लेकिन अब इन सब परेशानियों से निजात मिलेगी। पोस्ट मैन घर पर जाकर मोबाइल फोन के जरिए ओटीपी और बायो मैट्रिक के जरिए आधार आधारित पेंमेंट सिस्टम के तहत पेंशन का भुगतान करेगा। इससे वृद्ध, द्विव्यांग व अन्य पेंशन धारकों को घर बैठे पेंशन भुगतान की सुविधा मिलेगी, बैंक आने.जाने में लगने और धन व समय की भी बचत होगी। पेंशन लेने जोन के लिए दूसरों पर निर्भरता कम होगी।
सामाजिक सुरक्षा के तहत मिलती है पेंशन
जानकारी के मुताबिक राज्य में कुल 80 लाख पेंशनर्स हैं जिन्हें सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत पेंशन मिलती है। केन्द्र सरकार की ओर से वृद्धावस्था पेंशन, विधवा, प्रधानमंत्री जन कल्याण, विकलांग को सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत पेंशन मिलती है। राज्य सरकार की ओर से सामाजिक सुरक्षा पेंशन के तहत वृद्धजन पेश्ंान, एकल नारी पेंशन, विशेष योग्यजन पेंशन योजना, कृषक वृद्धजन पेंशन दी जाती है।

जयपुर में 5 लाख सामाजिक पेंशनर्स
जनसूचना पोर्टल के मुताबिक राजधानी जयपुर में कुल 5 लाख से अधिक लोग सामाजिक पेंशनर्स हैं। इनमें से 3 लाख 64 हजार 193 वृद्धजन पेंशनर्स, 1 लाख 42 हजार 676 एकलनारी पेंशनर्स, 35 हजार 842 विशेष योग्यजन पेंशनर्स और 28 हजार 878 कृषक वृद्धजन पेंशनर्स हैं। वहीं राज्य में 55 लाख 27 हजार 659 वृद्धजन पेंशनर्स, 18लाख 54 हजार 263 एकलनारी पेंशनर्स, 5 लाख 51 हजार 654 विशेष योग्यजन पेंशनर्स, 2 लाख 75 हजार 845 कृषक वृद्धजन पेंशनर्स हैं।
इनका कहना है
अब तक विभाग राजस्थान में लगभग 10 लाख लोगों के पेंशन खाते खोल चुका है। हमारा प्रयास है कि बुजुर्गों और दिव्यांगों को उनके घर पर पेंशन मिल सके। इससे उनका समय बच सकेगा। पोस्टमैन घर.घर जाकर पेंशन खाते खोल रहे हैं।

दिनेश कुमार शर्मा,निदेशक, डाक विभाग, राजस्थान परिमंडल

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned